बद्रीनाथ जी की आरती हिंदी और इंग्लिश मे {2020}

पूजा  के अंत में हम सभी देवी – देवताओं की आरती करते हैं। आरती पूजन के अन्त में हम इष्टदेवी ,पूजा  के अंत में हम सभी देवी – देवताओं की आरती करते हैं। आरती पूजन के अन्त में हम इष्टदेवी…

Bhulekh Punjab 202: पंजाब फर्द, जमाबंदी, खेवट खसरा नंबर रिकॉर्ड online

भू नक्शा पंजाब | फर्द केंद्र पंजाब | पंजाब जमाबन्दी की नकल | पंजाब फर्द खतौनी | जमाबंदी की नकल पंजाब |भु नक्शा पंजाब | Punjab Land Records Kaise Check Karen, Punjab Bhulekh ki Jaankari Hindi Mai, Punjab Fard & Jambandi Record Online,…

RTE Admission 2020-21 UP: Application रजिस्ट्रेशन फॉर्म, Lottery, रिजल्ट, Date की पूरी जानकारी

RTE 25 UP Admission Form in Hindi, RTE Uttar Pradesh Registration Form, How to Apply for RTE UP Online in Hindi उत्तर प्रदेश आरटीई 2020 के लिए पंजीकरण प्रक्रिया, आरटीई यूपी प्रवेश 2020 के लिए आवश्यक दस्तावेज, RTE UP Result…

चैत्र नवरात्री का धार्मिक और वैज्ञान‌िक दृष्ट‌ि से महत्त्व

नवरात्रि एक हिंदू पर्व है। नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति/देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि के नौ रातों में माँ दुर्गा…

दादर और नगर हवेली की अनुसूचित जनजातियां

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे जाति कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ भारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था।…

दमन और दीव की अनुसूचित जनजातियां

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे जाति कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ भारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था।…

छत्तीसगढ़ की अनुसूचित जनजातियां

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ भारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था। ये…

बिहार की अनुसूचित जनजातियाँ

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे जाति कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ भारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था।…

असम की अनुसूचित जनजातियाँ

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे जाति कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ उत्तरभारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था।…

अरुणाचल प्रदेश की अनुसूचित जनजातियाँ

जाति व्यक्ति का जिस समाज में जन्म हुआ हो उसे जाति कहते हैं। ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, तेली, लोहार, कुर्मी. धोबी आदि कुछ उत्तरभारतीय हिन्दू जातियाँ हैं। वैदिक समाज को श्रम विभाजन के निमित्त चार वर्णों में विभक्त किया गया था।…

Back to top