भारत की सबसे बड़ी इमारतों की सूची


हम में से अधिक्तर लोग सबसे ऊँची इमारतों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानना चाहता है | भारत की सबसे ऊँची इमारते जो भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में भी अपनी पहचान बना चुकी हैं| तो आज हम आपको बताते है ऐसी ही कुछ इमारतों के बारे में जो भारत में अपनी ऊंचाई के कारण पहचानी जाती हैं| और हाँ इस लिस्ट में एक बात दिलचस्प है की लगभग सभी इमारते मुंबई में स्थित है| मुंबई जितनी अपनी फिल्म इंडस्ट्री के लिए मशहूर है, उतनी ही गगनचुंबी इमारतों के लिए भी। इस शहर में 3000 से ज्यादा हाई साइज बिल्डिंग हैं, जो भारत में सबसे ज्यादा हैं। इसमें रिहायशी, कमर्शियल और रिटेल कॉम्पलेक्स शामिल हैं, जो मुंबई के आसमान को और शानदार बनाते हैं।

भारत की सबसे लम्बी इमारतों के बारे में

इंपीरियल टॉवर II

256 मीटर लंबाई है
60  मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

इंपीरियल टॉवर जुड़वां टॉवर है जो एक ही ऊंचाई पर स्थित हैं| जमीन के ऊपर इसमें 60 फ्लोर हैं। यह टावर एमपी मिल्स कंपाउंड में बना है और 40वें फ्लोर के ऊपर इसमें डुप्लेक्स अपार्टमेंट्स हैं। हर अपार्टमेंट से 150-270 डिग्री तक बाहर का नजारा देखा जा सकता है।

आहूजा टावर्स

248 मीटर लंबाई है
54   मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

इस इमारत में 78 अपार्टमेंट्स हैं, जिसमें कई सिलेब्रिटीज के अलावा टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा भी रहते हैं। यह प्रभादेवी इलाके में स्थित है। इसी के साथ इसमें 4 बेडरूम के 1 फ्लैट की अनुमानित कीमत 30 करोड़ रूपये है|

विश्व क्रेस्ट

223 मीटर लंबाई है
57  मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2014 में इसका निर्माण पूरा किया गया, 732 फीट लंबा जिसमें 57 मंज़िल शामिल हैं। आवासीय उद्देश्य के लिए बनाया गया है| इसमें 3 बेडरूम के 1 फ्लैट की अनुमानित कीमत 11-12 करोड़ रूपये है|india's biggest building

लोधा बेलिसिमो ए और बी

222 मीटर लंबाई है
53  मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2012 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया, इसमें 4 बेडरूम के 1 फ्लैट की अनुमानित कीमत 11-15 करोड़ रूपये है|

कोहिनूर स्क्वायर

203 मीटर लंबाई है
52 मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2013 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया, इसमें होटल, ऑफिस, रिटेल शॉप्स भी होंगी|

विवेरिया 1,2&3

200 मीटर लंबाई है
45 मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2012 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया, इसे आवासीय उद्देश्य के लिए बनाया गया है|

अशोक टावर्स डी

193 मीटर लंबाई है
49 मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2009 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया, इसे आवासीय उद्देश्य के लिए बनाया गया है|

रूबी

191 मीटर लंबाई है
40  मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2011 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया इसे वाणिज्यिक उद्देश्य के लिए प्रयुक्त किया गया है|

आर्किड वुड्स 1&2

210 मीटर लंबाई है
55  मंजिला हैं
स्थान – मुंबई

2012 में इस इमारत का निर्माण पूरा किया गया, यह बिल्डिंग मुंबई सेंट्रल के काफी नजदीक है और इसका निर्माण डीबी रियलिटी कर रहा है।

इसके अलावा, कई निर्माणाधीन इमारतों जो आगामी वर्षों में आकाश को छूने के लिए तेयार हो रही हैं।

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top