अदरक के उपयोग से करें गठिया रोग को जड़ से ख़त्म/ अदरक के हे अनेको फायदे


दुनिया के सबसे ज्यादा उपजाए जाने वाले मसाले के रूप में अदरक दुनिया का सबसे बहुपयोगी औषधीय गुण वाला पदार्थ है। 100 से ज्यादा बीमारियों में इस चमत्कारी मसाले के औषधीय लाभों पर अनगिनत अध्ययन किए गए हैं।

भारत के आयुर्वेदिक ग्रंथों में अदरक को बहुमूल्य औषधी बताया गया है

भारत के आयुर्वेदिक ग्रंथों में अदरक को सबसे महत्वपूर्ण बूटियों में से एक माना गया है। यहां तक कि उसे अपने आप में औषधियों का पूरा खजाना बताया गया है। आयुर्वेदिक चिकित्सक इसको एक शक्तिशाली पाचक के रूप में लेने की सलाह देते हैं क्योंकि यह पाचक अग्नि को भड़काता है और भूख को भी खुभ बढ़ाता है। इसके पोषक तत्व शरीर के सभी हिस्सों तक आसानी से पहुंच पाते हैं। आयुर्वेद में अदरक को जोड़ों के दर्द, मतली और गति के कारण होने वाली परेशानी के उपचार में भी इस्तेमाल किया जाता है।benefit-of-ginger

गठिया रोग में कैसे करता है अदरक लाभ

अदरक में जिंजरोल नामक एक बहुत असरदार पदार्थ होता है जो जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द को कम करता है। एक अध्ययन के मुताबिक, अदरक गंभीर और स्थायी इंफ्लामेटरी रोगों के लिए एक असरकारी उपचार है। गठिया जैसे रोगों को जड़ से खत्म करने के लिए अदरक के दो प्रयोग है तो आइये जानते है उनके बारे में

पहला तरीका :- पहले ½ चम्मच अदरक को पीस लें और इसे 150 ml गर्म पानी में डाल कर मिक्स कर लें और ठंडा होने के बाद इस मिश्रण का सेवन करें | इस मिश्रण/औषधि को दिन में 2 बार ले और इसका 1 महीने तक लगातार सेवन करने से गठिया रोग में बहुत अराम मिलेगा|

दूसरा तरीका :- 30-40 ग्राम सूखे अदरक को कपड़े में लपेट कर थैली बना लें और इस थैली को गर्म पानी में 5 मिनटों तक रखें | इस प्रयोग को करने से पहले ध्यान रखे की पानी गर्म हो | अब इस  मिश्रण में सूती कपड़ा बीघो लें और निचोड़ कर कपड़े को प्रभावित जगेह पर लगा कर रखें | इस कपड़े को गर्म रखने के लिए उपर से किसी सूखे कपड़े से कवर कर लें| 5 मिनट के बाद इस कपड़े को फिर से बीघो कर प्रभावित जगेह पर लगा कर रखें इस प्रोसेस को 3 बार रिपीट करें| 1 महीने तक लगातार सेवन करने से गठिया रोग जड़ से ख़त्म हो जायेगा|

और भी है अदरक के फायदे

अदरक के इस पानी से मसाज करने से Blood Circulation में भी सुधार आता है |

परिसंचरण (Blood Circulation) तन्त्र सबसे महत्वपूर्ण अंग तन्त्रों में से एक है। परिसंचरण तन्त्र में किसी प्रकार की खराबी से विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं। परिसंचरण तन्त्र की अव्यवस्था से हृदयरोग जैसे विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ हो जाता हैं।

अदरक के सेवन से अपच, गैस दूर करने, पेट दर्द, सुजन दूर करने, पेट में कीड़े, पेशाब की मात्र बढाने, हाजमा ठीक करने तथा खांसी आदि के लिए व्यापक रूप से किया जाता है |

अदरक में कैंसर जैसी भयानक बीमारी से शरीर को बचाए रखने का गुण होता है। यह कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को खत्म करता है। एक शोध के हिसाब से अदरक स्तन कैंसर पैदा करने वाले सेल को बढ़ने से रोकता है।

अदरक में खून को पतला करने का नायाब गुण होता है और इसी वजह से यह ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी में तुरंत लाभ के लिए जाना जाता है।

अगर आपको त्वचा से जुड़ी हुई किसी भी किस्म की समस्या है तो आप अदरक के ज्यूस को नियमित तौर पर इस्तेमाल करना शुरू कर दीजिए। अदरक के ज्यूस से आप मुहांसों से हमेशा के लिए निजात पा सकते हैं।


सुनील कुमार

Back to top