बबूल गोंद के फायदे – Babul ki Gond {Acacia Gum} Khaane Ke Fayde in Hindi


Babul Gond Ke Fayde in Hindi – बबूल जिसे बहुत से अलग अलग नामो से भी जाना जाता है जैसे कुछ क्षेत्रो में इसे कीकर, किक्कर, बाबला, बामूल आदि नामो से जाना जाता है. इसका पेड़ कांटेदार, बड़े या छोटे रूप में पुरे देश में सभी गाँवों व शहरो में आसानी से मिल जाता है. बबूल गोंद खाने के बहुल ही लाभ है जिसके बारे में आज के इस लेख में हम विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे और बबूल से सम्बंधित हर जरुरी जानकारी यहाँ शेयर करेंगे ताकि आप इसके बारे में पूरी जानकारी केवल एक ही पेज से प्राप्त कर सकें |

इसके तीन भेद है – तेलिया बबूल, कोडिया बबूल और राम काँटा बबूल. इनमे से तेलिया बबूल मध्य आकार का होता है. कोडिया बबूल का वृक्ष मोटा व् छाल रूखी होती है. यह विदर्भ व् खानदेश में होता है. राम काँटा बबूल कि शाखाएं ऊपर उठी हुयी और झाड़ू कि तरह होती हैं. यह पंजाब राजस्थान व् दक्षिण में पाया जाता है.

Also Read: शारीरिक कमजोरी को दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार

बबूल की गोंद की जानकारी (Babul Gond Information in Hindi)

रंग :इसका रंग हल्के पीले रंग का होता है।
स्वाद : इसका स्वाद हल्का मीठा होता है।
स्वरूप : बबूल के पेड़ का गोंद बहुत ही प्रसिद्ध है। इसका निर्माण बबूल के सूखे हुए दूध से होता है।
स्वभाव : यह ठंडा होता है।
हानिकारक :कतीरा और विहीदाना के साथ इसका उपयोग नहीं करना चाहिए।

benefits-of-acacia-gum

बबूल की गोंद के गुण

ऑनलाइन उपलब्ध विभिन्न लेखे के अनुसार बबूल एक बहुत ही चमत्कारी वृक्ष है और जिसमे बहुत से गुण विधमान है जिनके बारे में यहाँ बताया हुआ है |

  • बबूल की गोंद का प्रयोग करने से छाती मुलायम होती है।
  • यह पेट (आमाशय) को शक्तिशाली बनाता है तथा आंतों को भी मजबूत बनाता है।
  • यह सीने के दर्द को समाप्त करता है
  • गले की आवाज को साफ करता है।
  • इसका प्रयोग फेफड़ों के लिए अत्यंत लाभकारी होता है।
  • इससे शरीर में धातु की पुष्टि होती है तथा यह वीर्य बढ़ता है।
  • इसके छोटे-छोटे टुकड़े घी, खोवा और चीनी के साथ भूनकर खाने से शरीर शक्तिशाली हो जाता है।
  • इसके इस्तेमाल से चुस्ती फुर्ती और ताज़गी आती है
  • गर्मियों में इसके इस्तेमाल से लू लगने से बच सकते हैं।

Also Read: बढ़ती उम्र का असर ऐसे करें कम

पुरुषों के लिए बबूल की गोंद के फायदे (Babul Gond Khaane Ke Benefits for Male in Hindi)

पुरुषों के लिए बबूल की गोंद बहुत ही फायदेमंद दवा है, इसके इस्तेमाल से पौरुष बढ़ता है, बबूल की गोंद गर्मी के मौसम में आसानी से एकत्रित की जा सकती है। इसके तने में कहीं पर भी काट देने पर जो सफेद रंग का पदार्थ निकलता है। उसी को गोंद कहा जाता है। यह बाज़ार में भी किसी भी दुकान पर सहजता से मिल जाती है। सामान्यतः गोंद का सेवन 5 से 10 ग्राम तक किया जा सकता है। और अगर कहीं पर इसका कोई हानिकारक प्रभाव दिखे तो इसको शांत करने के लिए पलाश की गोंद का सेवन किया जाता है।

शीघ्रपतन दूर करने के लिए

शीघ्रपतन दूर करने के लिए बिना बीज वाली बबूल कि कच्ची फलियाँ, बबूल की कोमल पत्तियां और बबूल की गोंद तीनो को बराबर मात्रा में लेकर सुखा लीजिये, सूखने पर कूट पीसकर कपडे से छान लीजिए| अब इसमें इसके बराबर वजन की मिश्री मिला लें| मिश्री को अच्छी तरहं से पिस कर इस चूर्ण में मिलले| अब इस मिश्रण को दो या तीन बार कपडे से अच्छी तरह छान लीजिये| अब इस चूर्ण को कांच की शीशी में भर कर उपयोग के लिए रख लीजिये| रोज़ सुबह और रात में सोते समय एक चम्मच खाने के बाद गर्म दूध के साथ तीन महीने तक सेवन करें|

Also Read: नपुंसकता के कारण, लक्षण और इसका उपचार

पुरुषो के वीर्य रोग: बबूल की कच्ची फली सुखा लें और मिश्री मिलाकर खायें इससे वीर्य रोग में लाभ होता है।

कीकर (बबूल) की 100 ग्राम गोंद भून लें इसे पीसकर इसमें 50 ग्राम पिसी हुई असगंध मिला दें। इसे 5-5 ग्राम सुबह-शाम हल्के गर्म दूध से लेने से वीर्य के रोग में लाभ होता है।

बबूल की फलियों को छाया में सुखा लें और इसमें बराबर की मात्रा मे मिश्री मिलाकर पीस लेते हैं। इसे एक चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम नियमित रूप से पानी के साथ सेवन से करने से वीर्य गाढ़ा होता है और सभी वीर्य के रोग दूर हो जाते हैं।

Also Read: दूध में छुहारे मिलाकर पीने के अदभुद फायदे

बबूल की कच्ची फलियों का रस दूध और मिश्री में मिलाकर खाने से वीर्य की कमी दूर होती है।

50 ग्राम कीकर के पत्तों को छाया में सुखाकर और पीसकर तथा छानकर इसमें 100 ग्राम चीनी मिलाकर 10-10 ग्राम सुबह-शाम दूध के साथ लेने से वीर्य के रोग में लाभ मिलता है।

स्त्रियों के लिए बबूल की गोंद के फायदे (Babul Gond Khaane Ke Benefits for Female in Hindi)

स्तन: बबूल की फलियों के चेंप (दूध) से किसी कपड़े को भिगोकर सुखा लें। इस कपड़े को रात में सोते समय अपने स्तनों पर बांधने से ढीले स्तन कठोर हो जाते हैं।

बांझपन दूर करने का उपाए: बबूल (कीकर) के पेड़ के तने में एक फोड़ा सा निकलता है। जिसे कीकर का बांदा कहा जाता है। इसे लेकर पीसकर छाया में सुखाकर चूर्ण बना लें| इस चूर्ण को 3 ग्राम की मात्रा में माषिक धर्म  के खत्म होने के अगले दिन से तीन दिनों तक सेवन करें। फिर पति के साथ संभोग करे इससे गर्भ अवश्य में गर्भ  धारण करने की क्षमता में विर्धि होती है|

मासिक-धर्म: 20 ग्राम बबूल की छाल को 400 मिलीलीटर पानी में उबाले और जब पानी 100 मिलीलीटर बचे तो इस काढ़े को दिन में तीन बार पिने से भी मासिक-धर्म में अधिक खून का आना बंद हो जाता है।

100 ग्राम बबूल का गोंद कड़ाही में भूनकर चूर्ण बनाकर रख लें। इसमें से 10 ग्राम की मात्रा में गोंद को 10 ग्राम मिश्री के साथ मिलाकर सेवन करने से मासिक धर्म की पीड़ा (दर्द) दूर हो जाती है, और मासिक धर्म नियमित रूप से आने लगता है।

Also Read This: गुड खाने के फायदे

बबूल की गोंद के अन्य चमत्कारी फायदे

बबूल गोंद खाने के और भी कई फायदे है जिन्हें निचे बताया गया है :-

बवासीर (अर्श) : बबूल की गोंद, कहरवा, समई और गेरू 10-10 ग्राम लेकर पीसकर चूर्ण बना लें। इसके 1 से 2 ग्राम चूर्ण को गाय के दूध की छाछ (मट्ठा) में मिलाकर 2 से 3 सप्ताह तक पीयें। यह बादी बवासीर और खूनी बवासीर दोनों रोगों में लाभकारी होता है।

कमर दर्द : कमर दर्द में बबूल की छाल, फली और गोंद बराबर मिलाकर पीस लें, एक चम्मच की मात्रा में दिन में 3 बार सेवन करने से कमर दर्द में आराम मिलता है।

सिर दर्द : सिर दर्द में पानी में बबूल की गोंद घिसकर सिर पर लगाने से सिर का दर्द दूर हो जाता है।

Also Read This: दस्त लगने पर क्या करें

मधुमेह : मधुमेह में 1 ग्राम बबूल के गोंद का चूर्ण पानी के साथ या गाय के दूध के साथ दिन में 3 बार रोजाना सेवन करने से मधुमेह रोग में लाभ पहुंचता है।

पुरुष और स्त्री में ताकत बढ़ता है: पुरुष और स्त्री दोनो की कमज़ोरी में बबूल के गोंद को घी में तलकर उसका पाक बनाकर खाने से पुरुषों की ताक़त बढ़ती है और प्रसूत काल में स्त्रियों को खिलाने से उनकी शक्ति भी बढ़ती है।

खांसी : खांसी में बबूल का गोंद मुंह में रखकर चूसने से खांसी ठीक हो जाती है।

पेट की पीड़ा : पेट और आँतो के घाव में बबूल की गोंद पानी में घोलकर पीने से आमाशय (पेट) और आंतों के घाव तथा पीड़ा मिट जाती है।

Read This: मानव शरीर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

शायद ही आपने सोचा होगा की बबूल की गोंद के इतने सारे फायदे होंगे, हमें भी पहले विश्वाश नहीं हुआ लेकिन ऑनलाइन रिसर्च करने के बाद हम वाकई में हेरान थे और अपने पाठको के लिए इस जानको को अपने ब्लॉग पर शेयर करा और हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top