जानिए लौकी खाने के कितने फायदे


आज हम आपको एक एसी सब्जी के बारे में बताने जा रहे है, जिसे आप अपनी रोजमरा की जीवन शैली में अपना कर अनेको बीमारियों से बहुत ही आसानी से निजात पा सकते है| लौकी जी हाँ लौकी एक एसी सब्जी जिसके सेवन से आप अनेको बीमारीयों से बड़ी ही आसानी से निजात पा सकते है, लौकी का सेवन आप सब्जी के रूप में या जूस के रूप में भी कर सकतें है| लौकी को अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम से भी जाना जाता है| जैसे की हुक्कुम लौकी, दुधी, धिया, लौकी, लौकी को English में Bottle Gourd कहा जाता है|

आमतौर पर लोग लौकी खाने से बचते हैं कुछ को इसका स्वाद पसंद नहीं होता है तो कुछ को ये पता ही नहीं होता है कि ये कितनी फायदे की चीज है अगर आपको भी ये लगता है कि लौकी खाने से कोई फायदा नहीं है तो आपको बता दें कि ऐसा नहीं है लौकी एक बेहद फायदेमंद सब्जी है जिसके इस्तेमाल से आप कई तरह की बीमारियों से राहत पा सकते हैं.

लौकी खाने के फायदे

लौकी पोषक तत्वो से भरपूर होता है। इसके स्वास्थ्य वर्धक गुणों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। लौकी में लगभग 96%पानी होता है इसलिए लोग इसके जूस का सेवन करना भी काफी पसंद करते हैं लौकी का रस/जूस में अत्यधिक पानी होता है जो आपके शरीर को शीतलता प्रदान करता है। इसी कारण लौकी आम तौर पर गर्मियों के मौसम के दौरान सेवन की जाती है वैसे इसको पूरे वर्ष ही सेवन किया जा सकता है । इस पोस्ट में जानते हैं लौकी के फायदे जो हमको लौकी खाने से मिलते हैं।

वजन कम करने में मददगार

यदि आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो लौकी का उपयोग रोज करें, कुछ ही लोगों को ये पता होगा कि लौकी खाने से वजन कम होता है आपको शायद इस बात पर यकीन न हो लेकिन किसी भी दूसरी चीज की तुलना में लौकी ज्यादा तेजी से वजन कम करती है आप चाहें तो लौकी का जूस नियमित रूप से पी सकते हैं इसके अलावा आप चाहें तो इसे उबालकर, नमक डालकर भी इस्तेमाल में ला सकते हैं|

शरीर में ताजगी  

लौकी को हल्की सब्जियों में गिना जाता है। इसे खाने से पेट में भारीपन नहीं रहता, बल्कि यह शरीर में ताजगी बनाए रखने में सहायक है। प्रतिदिन तरोताजा बने रहने के लिए, नमक या मसाले डालकर लौकी का जूस पीना कारगर उपाय है।

कब्ज और पाचन में सुधार

लौकी के रस में घुलनशील फाइबर, अघुलनशील फाइबर दोनों पाये जाते है जो शरीर को फिट रखने में सहयोग करते हैं और पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मदद करते है। इसके अलावा उच्च फाइबर ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर, हार्ट हेल्थ और वजन को नियंत्रित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते है। इसके नियमित रूप से सेवन करने से अनियमित मल त्याग या कब्ज के साथ ही पेट फूलना और अर्जीण सबंधी पेट की बीमारिया दूर होती है।

हृदय रोगों से बचाते हैं

लौकी और लौकी के रस का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियन्त्रित रहता है। यही नही लौकी के सेवन से शरीर में रक्तचाप भी नियन्त्रित रहता है जिस कारण से हृदय पर अतिरिक्त कार्यभार नही पड़ता है जिससे भविष्य में हृदय रोग होने की सम्भावनायें ना के बराबर हो जाती हैं। अगर आपको भी अपने हृदय से प्यार है तो लौकी को अपने नियमित आहार का हिस्सा जरूर बनाइयेगा।

लीवर की सूजन को दूर करता है

लौकी का रस आपके लीवर में आई सूजन को कम करने में काफी मदद करता है।

त्वचा में चमक लाता है

लौकी में नेचुरल वॉटर होता है ऐसे में इसके नियमित इस्तेमाल से प्राकृ‍तिक रूप से चेहरे की रंगत निखरती है लौकी के रस का सेवन करने से शरीर के अंदर के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते है जिससे ये शरीर के अंदर की सफाई कर सारे विकारों को दूर करते है जिससे त्वचा में भी इसका असर देखने को मिलता है त्वचा खिलकर गुलाबी हो जाती है उसमें एक अलग सी चमक देखने को मिलती है। लौकी के रस की कुछ मात्रा हथेली में लेकर चेहरे पर मसाज कर सकते हैं इसके अलावा लौकी की एक स्लाइस को काटकर चेहरे पर मसाज करने से भी चेहरे पर निखार आता है|

मधुमेह रोगियों के लिए

मधुमेह के रोगियों के लिए लौकी किसी वरदान से कम नहीं है. प्रतिदिन सुबह उठकर खाली पेट लौकी का जूस पीना मधुमेह के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है|

कोलेस्ट्रॉल के लिए

लौकी को भोजन में शामिल करने से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल बहुत आसानी से धीरे- धीरे कम होने लगता है, जिससे हृदय संबंधी या कोलेस्ट्रॉल से होने वाली अन्य समस्याएं नहीं होती। इसके लिए लौकी का जूस एक आदर्श पेय माना जाता है।

यूरिन इनफेक्शन को दूर करने में

शरीर में सोडियम की अधिकता होने से यूरिन इन्फेक्शन की समस्या बढ़ जाती है जिससे मूत्र त्याग करते समय काफी जलन होने लगती है। यूरिन इन्फेक्शन की परेशानियों को दूर करने में लौकी का रस काफी फायदेमंद साबित होता है । लौकी के रस में क्षारीय गुण होते हैं जो मूत्र मार्ग की अम्लता को दूर करता है और पेशाब करने के दौरान होने वाली जलन आदि की समस्या में बहुत अच्छी राहत देती है ।

आँखों की सुरक्षा के लिए

लौकी के अन्दर बहुत अच्छी मात्रा में ल्यूटिन नामक रसायन पाया जाता है जो कि आँखों के लिये बहुत अच्छा माना जाता है। उच्च मात्रा में lutein की उपस्थिति आँखों में होने वाली कई तरह के परेशानियों को दूर कर आँखों की रौशनी की भी सुरक्षा करती है। आँखों में जलन की समस्या के समाधान के लिये लौकी के फायदे बहुत ही ज्यादा गुणकारी होते हैं।

अनिद्रा को दूर करने में

यदि आपकी नींद पूरी नही हो पा रही है तो लौकी के रस में तिल का तेल मिलाकर सिर की मालिश करें आपको तुंरत ही अच्छी नींद आने लगेगी और तनाव से मुक्ति मिलेगी।

डेंड्रफ से छुटकारा दिलाते हैं

लौकी के रस में सिर में होने वाले डेंड्रफ को घोलने और साफ करने का गुण होता है। लौकी को कद्दूकस करके सिर पर आधा घण्टा लेप करने से डेंड्रफ की समस्या में आराम मिलता है। और बेहतर परिणाम के लिये कद्दूकस किये गये लौकी में आधा चम्मच सिरका भी मिलाकर प्रयोग किया जा सकता है। अगर लौकी और आँवले के रस को समान अनुपात में मिलाकर स्कैल्प की नियमित रूप से मालिश की जाये तो इससे भी डेंड्रफ की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।

बाल को सफेद होने से रोकता है 

हर सुबह एक ग्लास लौकी के रस को खाली पेट पीने से आपके बालों का सफेद होना रूक जाता है।

शरीर को ठंड़ाहट प्रदान करने में

लौकी में फाइबर के साथ पानी की अधिक मात्रा पाई जाती है जो शरीर की गर्मी को शांत कर कई समस्याओं से छुटकारा दिलाते है गर्मीं के दिनों में इसका सेवन करने से लू डायरिया जैसी खतरनाक बीमारियों से बचा जा सकता है। यह शरीर को शीतलता प्रदान करता है और पानी की कमी को दूर कर त्वचा को नमी प्रदान करता है|

लौकी में भरपूर मात्रा में डायट्री फायबर, विटामिन- ए, विटामिन -सी, थायमिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन- बी3, बी6, मिनरल्स, कैल्श‍ियम, आयरन, मैग्नीशि‍यम, फास्फोरस, पोटेशि‍यम, सोडियम और जिंक पाया जाता है, जो आपको स्वस्थ बनाए रखता है।

नोट :- 1 लौकी के जूस का सेवन करते समय यह ध्यान रखें, कि इसे किसी अन्य वेजिटेबल जूस के साथ मिक्स न करें।
2 लौकी का जूस बनाने से पहले उसे टेस्ट कर लें, यदि वह कड़वी हो तो उसका सेवन बिल्कुल न करें। इसमें टेट्रासायक्ल‍िक होता है, जो आपको डिहाइड्रेशन, जी मचलाना, गैस जैसी समस्याएं दे सकता है।


सुनील कुमार

Back to top