गाजर का सेवन करने के फायदे


गाजर सर्दियों में मिलने वाली सब्जी होती है, गाजर बहुत ही गुणकारी है, गाजर में जीवन दायिनी शक्ति है, गाजर में दूध के समान गुण विद्यमान हैं और गाजर का रस दूध से भी उत्तम है, गाजर में माता के दूध के समान खनिज लवण पाए जाते हैं। इसके उपयोग से हमारी सेहत बहुत बढ़िया बना सकते है।

गाजर सर्दियों में खाए जाने वाली सब्जियों में से एक है और इसे हम चाहे तो कच्चा भी खा सकते हैं और चाहे तो सब्जी बना कर भी खा सकते है, चाहे तो गाजर को हलवे के रूप में या फिर सलाद और जूस के रूप में भी उपयोग में ला सकते हैं, लेकिन गाजर खाना यह हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है. खाना यह हमारे लिए इसलिए जरूरी है क्योंकि गाजर में इतने पौष्टिक आहार पाए जाते हैं, जिनके बारे में आप सोच भी नहीं सकते इसीलिए गाजर एक और फायदे अनेक। तो आइए जानते हैं गाजर खाने के फायदो के बारे में।

गाजर खाने के लाभBenefits of carrots

बुढ़ापे के प्रभाव को कम करता है:- गाजर में बीटा कैरोटीन काफी मात्रा में पाया जाता है, ये एक एंटीऑक्सीडेंट का कम करता है। एंटीऑक्सीडेंटस हमारे शरीर की कोशिकाओं की उम्र को बढाता है जिससे बढती उम्र का शरीर पर प्रभाव नहीं पड़ता।

गठिया के प्रभाव पर:- हर दिन एक गाजर खाने से आप गठिया जैसी भयंकर बीमारियों से बच सकते हैं|

पुरषों के स्‍पर्म की क्‍वालिटी पर प्रभाव:- बताया जाता है कि गाजर खाने से स्‍पर्म की क्‍वालिटी सुधरती है। अगर आप अपनी फेमिली शुरु करने की सोंच रहे हैं तो आपको कच्‍ची गाजर खाना शुरु कर देनी चाहिये।

आँखों की रौशनी पर प्रभाव:- गाजर में बीटा-कैरोटीन पाया जाता है जो कि शरीर में जाने के बाद विटामिन ए  में बदल जाता है. विटामिन ए हमारी आँखों के लिए बहुत अच्छा है, बीटा कैरोटीन, मोतियाबिंद जैसे रोग से भी बचाता है।

लिवर और पेट पर प्रभाव:-  लीवर जो कि हमारे शरीर से जहरीले तत्व को बाहर निकालता है, विटामिन ए की मदद से लीवर यह काम जयादा अच्छे से कर सकता है। और गाजर में प्रयुक्त विटामिन ऐ के सेवन करने से हमारा लीवर और भी अच्छा काम करेगा। और इस में फाइबर काफी मात्रा में पाया जाता है, इस से हमारा पेट भी साफ़ रहता हैं।

महिलाओं के पीरियड पर प्रभाव:- के दौरान महिलाओं को गाजर खाने की सलाह इसलिए दी जाती है, क्योंकि इसमें आयरन की प्रचुर मात्रा होती है, और विटामिन इ पाया जाता है जो नया खून जल्दी बनने में मदद करता हैं|

रोग प्रतिरोधक क्षमता पर प्रभाव:- अगर आपका रेाग प्रतिरोधक क्षमता कम है तो आप हमेशा बीमार पड़ते रहेंगे। पर अगर आप गाजर का जूस पिएगें तो आप हमेशा हेल्‍दी बने रहेंगे।

दिल पर प्रभाव:- गाजर को भूनकर खाने से दिल की कमजोरी और धड़कन तेज नहीं होती हैं

मुंह के रोगों पर प्रभाव:- गाजर का जूस पीने से मुंह के छाले और मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाता है, और दातों की चमक बढ़ती हैं, और गाजर का सेवन करने से मूंह से बदबू नहीं आती हैं|

कैंसर के रोग पर प्रभाव:-  गाजर में फल्कारिनोल पाया जाता है जिसमे एंटी कैंसर गुण होते हैं। गाजर का प्रयोग कई तरह के कैंसर जैसे कि ब्रैस्ट कैंसर, पेट के कैंसर और फेफड़ों के कैंसर के खतरे को कम करता है। गाजर के प्रयोग से कैंसर जैसी बीमारी से काफी हद तक बचा जा सकता है।

पाचन तन्त्र पर प्रभाव:- अगर आपको पाचन संबन्‍धी समस्‍या है तो आप दिन में दो लाल गाजर खाएं, इससे आपका पेट एक दम सही रहेगा।

त्वचा के सवस्थ पर प्रभाव:-  विटामिन ए और एंटीऑक्सीडेंटस हमारी त्वचा, बालों और नाखुनो को खुश्क होने से बचाता है. इसके इलावा यह त्वचा के रंग और उस पर झुरियों, धब्बों से भी बचाता है।

कोलेस्‍ट्रॉल पर प्रभाव:- गाजर शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम करती है। रात को डिनर करने के बाद एक गिलास गाजर का जूस पीना जरुरी है।

पेशाब संबंधित बीमारी:- गाजर खाने या गाजर का जूस पीने से पेशाब संबंधित कोई बीमारी नहीं होती है, और पेशाब खुलकर आता हैं|

मधुमह पर प्रभाव:- गाजर को डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अच्छा माना जाता है इसलिए डायबिटीज के मरीजों को गाजर का सेवन किया जूस गाजर का सेवन या जूस अवश्य पीना चाहिए.

लम्बी बीमारी पर प्रभाव:- अगर कोई लम्बी बीमारी से बाहर निकला है तो उसके शरीर में कई प्रकार के विटामिन की कमी हो जाती है उसकी क्षतिपूर्ति करने में गाजर का जूस बहुत ही प्रभावकारी है। इससे रोगी चुस्त, ताजगी से भरपूर और शक्तिशाली बनता है।

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top