गुड खाने के फायदे


एलोपैथी औषधि केवल रोग का उपचार करती है. किंतु आयुर्वेद समग्र जीवनपद्धति है जो आज हम आपको कुछ एसे आयुर्वेदिक और घरेलु नुस्खो के बारे में बताने जा रहे है, जिहने अपना कर आप अपने जीवन में बहुत सी बीमारियों से बहुत ही आसानी से निजात पा सकते है| अगर किसी व्यक्ति को शारीरिक कमजोरी रहने की शिकायत है तो ऐसे व्यक्ति आयुर्वेदिक उपचार का सहारा ले कर शरीर को स्वस्थ बना कर सेहतमंद जीवन जी सकते है।

आयुर्वेद शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है। आयुः जिसका अर्थ हे जीवन तथा वेद का अर्थात हे ज्ञान। इसलिए आयुर्वेद का अर्थ है, स्वस्थ जीवन जीने का ज्ञान| आज के आधुनिक युग में भी आयुर्वेद का अपना एक अलग महत्व है, विज्ञान चाहे जितनी भी प्रगति कर लें, चिकित्सा के क्षेत्र में कितने भी अविष्कार हो जाएं पर आयुर्वेदिक उपचार का महत्व कभी कम नही हो सकता है। आयुर्वेद रोग तथा रोगी दोनों का पूर्ण उपचार करती है ।gud khane ke fayde

आयुर्वेदिक उपचार के दो प्रमुख लक्ष्य हैं:-

स्वस्थ लोगों के स्वास्थ्य को बनाए रखना और रोगियों के रोग को ठीक करना

नई तकनीकि जहां रोग हो जाने के बाद उसका उपचार करती हैं वहीं आयुर्वेद में ऐसी जीवनशैली पर महत्व दिया जाता है जिसके अपनाने से व्यक्ति को रोग होने की सम्भावनाए बहुत या यूं कहें की न के बराबर हो जाती है। आयुर्वेद में खानपान पर विशेष ध्यान दिया जाता है और पौष्टिक खाद्यय पदार्थो के सेवन को वरियता दी जाती है । पौष्टिक खाद्य पदार्थों की बात करें तो गुड़ को आयुर्वेद में अमृत के समान माना गया है और आयुर्वेद की माने तो प्रतिदिन गुड़ के सेवन से व्यक्ति कई रोगों से मुक्त होकर आजीवन स्वास्थ्य का लाभ उठाता है। आज हम आपको गुड खाने के फायदों के बारे में बताने जा रहे है|

क्या हे गुड और कैसे बनता है

गन्ने के रस को पका कर बनता है गुड| गन्ने के रस को पकाकर बना गुड सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद हे, हमने अधिकतर गुड को गन्ने के खेतो के आस-पास बड़ी कढाईयों में पकते देखा है| हलाकि आज कल गुड मशीनों के द्वारा भी बनाया जाता है, परन्तु मशीनों से बने इस गुड का स्वाद पारपरिक तरीके से बने गुड की तरह नही होता, गुड का स्वाद गन्ने के तरह ही मीठा मुह के रक घोलने वाला होता है| परन्तु अज के समय में शायद ही आपको असली और शुद्ध गुड बाजार में मिल पाए|

गुड खाने के लाभ

प्राकृतिक मिठाई के तौर पर पहचाना जाने वाला गुड़, स्वाद के साथ ही सेहत का भी खजाना है, अगर अाप अब तक अनजान हैं इसके स्वास्थ्यवर्धक गुणों से, तो अब जान जानि‍ए गुड़ खाने के यह बेहतरीन फायदे.

पेट की समस्याओं के लिए: गुड़ पेट की समस्याओं से निजात पान के लिए बेहद आसान और फायदेमंद उपाय है| गुड के सेवन से पेट में गैस बनना और पाचन क्रिया से जुड़ी दूसकी समस्याएं खत्म हो जाती हैं।

सर्दी होने पर: सर्दी के दिनों में या सर्दी होने पर गुड़ का प्रयोग आपके लिए अमृत के समान होगा। इसकी तासीर गर्म होने के कारण यह सर्दी, जुकाम और खास तौर से कफ से आपको राहत देने में मदद करेगा। इसके लिए दूध या चाय में गुड़ का प्रयोग किया जा सकता है, और आप इसका काढ़ा भी बनाकर ले सकते हैं।

त्वचा के लिए: गुड़ त्वचा की सेहत के लिए भी फायदेमंद साबित होती है इसके सेवन से शरीर के हानिकारक टॉक्स‍िन्स को बाहर निकल जाते हैं और इस तरह रक्त पूरी तरह शुद्ध हो जाता है। ऐसे में प्रतिदिन थोड़ा थोड़ा गुड़ खाने से मुंहासों जैसा स्किन प्रॉब्लम नहीं होती और त्वचा में चमक भी आती है।

मोटापे के लिए: मोटापे को करें कंट्रोल माना जाता है कि अगर आप दूध के साथ चीनी का इस्तेमाल करते है तो इसकी जगह आप गुड का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से आपका वजन कंट्रोल में रहेगा। जिससे आप मोटापे का शिकार नहीं होगे।

गले की खराश के लिए: गुड़ को अदरक के साथ गर्म कर, इसे गुनगुना खाने से गले की खराश और जलन में राहत मिलती है। इससे आवाज भी काफी बेहतर हो जाती है।

थकान या कमजोरी होने पर: अगर आपको बहुत अधि‍क थकान या कमजोरी महसूस होती हैं, तो इससे निजान दिलाने में भी गुड़ आपकी मदद कर सकता है। यह आपके शरीर में उर्जा के स्तर को बढ़ाता है जिससे आपको थकान महसूस नहीं होती।

जोड़ो के दर्द के लिए: गुड़ खाने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। अगर रोजाना गुड़ का एक छोटा पीस अदरक के साथ मिला कर खाया जाए तो जोड़ों में मजबूती आएगी और दर्द दूर होगा।

अस्थमा रोगियों के लिए: गुड़ शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में सहायक होता है| साथ ही इसमें एंटी एलर्जिक तत्व होते हैं, जिसकी वजह से इसका सेवन अस्थमा के मरीज़ों के लिए काफी फायदेमंद होता है। सर्दियों में गुड़ और तिल के लड्डू खाने से अस्थमा की दिक्कत नहीं होती और शरीर में आवश्यक गर्मी भी बनी रहती है।

बालों के लिए: गर्म दूध और गुड का सेवन करने से आपकी त्वचा मुलायम होने के साथ-साथ त्वचा संबंधी समस्या न होगी। साथ ही इसका सेवन करने से आपके बाल भी हेल्दी रहेगे।

एनिमिया के रोगियों के लिए: शरीर में आयरन की कमी होने पर गुड़ आपकी काफी मदद कर सकता है। गुड़ आयरन का एक अच्छा और सुलभ स्रोत है। एनिमिया के रोगियों के लिए भी गुड़ बेहद फायदेमंद होता है।

कान दर्द के लिए: कान में दर्द होने पर भी गुड़ का सेवन लाभदायक सिद्ध होता है। दरअसल गुड़ को घी के साथ मिलाकर खाने से कान में दर्द की समस्या ये निजात मिल जाती है।

मासिकधर्म के दर्द के लिए: पीरियड्स में दर्द को करें ठीक कहा जाता है कि अगर आपको कही दर्द होतो गर्म दूध पीने से तुरंत आराम मिल जाता है और महिलाओं को पीरियड के समय का दर्द हो रहा हो तो गर्म दूध के साथ गुड का सेवन करने से आपको इससे निजात मिल सकता है। या फिर पीरियड शुरु होने के 1 हफ्ते पहले 1 चम्‍मच गुड़ का सेवन रोजाना करें। इससे आपको दर्द से निजात मिल जाएगा।

पेट में गैस के लिए: पेट में गैस बनने की समस्या होने पर प्रतिदिन एक गिलास पानी या दूध के साथ गुड़ का सेवन करने से पेट में ठंडक होती है, और गैस भी नहीं बनती।

याददाश्त के लिए: गुड़ का सेवन शारीरिक और मानसिक दोनों स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है, इससे गुड़ के नियमित सेवन से याददाश्त बढ़ती है और मानसिक कमजोर कभी नहीं होती है।

गला बैठ जाने पर: गला बैठ जाने और आवाज जकड़ जाने की स्थि‍ति में पके हुए चावल में गुड़ मिलाकर खाने से बैठा हुआ गला ठीक होता है एवं आवाज भी खुल जाती है।

पीलिया रोग के लिए: पीलिया हो जाने पर पांच ग्राम सोंठ में दस ग्राम गुड़ मिलाकर एक साथ खाने से काफी लाभ मिलता है।

भूख बढ़ाने के लिए: अगर आपको या बच्चो को कम भूख लगती है तो आपकी इस समस्या का इलाज गुड़ के पास है। गुड़ खाने से आपकी भूख खुलेगी, और पाचनक्रिया दुरूस्त होगी।

गर्मी को नियंत्रित करता है: वैसे तो गुड़ को गर्म मासीर का माना जाता है, लेकिन इसके पानी के साथ घोलकर पीने से यह शरीर में ठंडक प्रदान करता है, और गर्मी को नियंत्रित करता है।

खट्टी डकारों के लिए; खट्टी डकारें आने या पेट की अन्य  समस्या में गुड़ में काला नमक मिलाकर चाटने से लाभ होता है। इसके अलावा यह तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में काफी सहायक होता है।

इस तरह गुड़ का सेवन स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहद फायदेमंद है, साथ ही अगर प्रतिदिन रात को सोते वक्त इसका सेवन किया जाए तो और भी आश्चर्यजनक नतीजे मिलते हैं।

जरुरी बातें:-

जहाँ हमने गुड खाने के इतने फायदे देखे वही गुड खाने के कुछ नुकसान भी है| वैसे तो हम सभी यह जानते ही है के किसी भी चीज की आवश्यकता से ज्यदा इस्तेमाल नुकसानदायक होता है| जैसे की बार गुड किसी को सूट नही करता है| गर्मी के मौसम में गुड ज्यादा खा लेने से नाक में से खून निकलने लगता है| गुड का ज्यदा सेवन करने से जिन्हें शुगर की बीमारी है उनका शुगर लेवल बढ़ जाता है|

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top