गर्मियों के मौसम में लू और पेट की समस्या से बचने के घरेलू उपाय


मार्च का महिना शुरू होते ही आधिक्तर लोगों की रजाई गद्दे पेक करके रख दिए जाते है, और कुछ ही दिनों में पंखा, कूलर या AC चालू हो चुके होते है| क्योंकि गर्मी का मोसम शुरू हो चूका होता है| गर्मी के मोसम में तेज धूप की वजह से तापमान बढना, लू लगना, हवा में रूखेपन की समस्याएँ आती है| कई शहरों में तो तापमान 45 डिग्री से भी जादा हो जाता है| गर्मियों में लोग Dehydration और लू से बचने के लिए कुछ न कुछ ठंडा खाते और पीते रहते है, पर इसके साथ साथ हमें गर्मी में लू और धूप से बचने के उपाय की पूरी जानकारी होनी चाहिए ताकि हम गर्मी में होने वाले रोगों से बचे रहे|

गर्मी में लू और पेट की समस्या से बचने के आसान घरेलु उपाय summer season

लू से बचने के लिए शरीर के कुछ खास अंग जैसे आंख, कान और नाक की सुरक्षा जरूरी है। इनके जरिए गर्म हवाएं शरीर में प्रवेश कर जाती है, और आप लू का शिकार हो जाते हैं। इसलिए बाहर निकलने से पहले चेहरे को ढ़कने पर विशेष जोर दिया जाता है। गर्मी के मौसम में गर्म हवा और बढ़े हुए तापमान से लू लगने का खतरा बढ़ जाता है, चिलचिलाती गर्मी में लू से बचने के लिए घरेलू उपाय काफी कारगर साबित होते हैं|

1. निर्जलीकरण उन मुख्य कारणों में से एक है जिनमें लोगों को गर्मी के कारण स्वास्थ्य संबंधी प्रभाव का सामना करना पड़ता है। गर्मियों के दिनों में बहुत सारा पानी पीना सुनिश्चित करें। हर समय अपने साथ एक पानी की बोतल रखें। इस मौसम में पानी से कोई समझौता नहीं किया जाना चाहिए।

2. धनिए को पानी में भिगोकर रखें, फिर उसे अच्छी तरह मसलकर तथा छानकर उसमें थोड़ी सी चीनी मिलाकर पीएं।

3. गर्मियों में आम का पन्ना पीना चाहिए। यह कच्चे आम का शर्बत होता है जो आपको लू से बचाता है।

Also Read: भारत के 10 सबसे अच्छे Split AC

4. तेज धूप से आते ही और ज्यादा पसीना आने पर फौरन ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए|

5. इमली के बीज को पीसकर उसे पानी में घोलकर कपड़े से छान लें। इस पानी में शक्कर मिलाकर पीने से लू से बचा जा सकता है।

6. एलोवेरा के रस में आपके सिस्टम को शांत करने की शक्ति होती है। इसमें कुछ ऐसे गुण भी होते हैं, जिनके कारण आपका शरीर बेहतर तरीके से बाहरी वातावरण में अनुकूल रहता है। इससे पहले कि आप अपने घर से बाहर जाएँ, उससे पहले एक गिलास एलोवेरा रस पी लें।

7. खीरे के जूस को आप चेहरे पर लगाएं, यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है। इससे चेहरे पर ठंडक महसूस होगी और आप सनबर्न की समस्या से बचे रहेंगे।

8. गर्मियों में, आपको उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो कि पचाने में आसान होते हैं और जो बहुत अधिक वसा और तेलयुक्त ना हों। अपने आप को ताज़ा और शांत रखने के लिए अपने आहार में तरबूज, खरबूजे आदि जैसे बहुत सारे फलों को शामिल करना सुनिश्चित करें। इसके अलावा बहुत सारे अच्छे पोषक तत्वों से भरपूर दही का सेवन कीजिए।

9. धूप में कम से कम निकलने की कोशिश करें। अगर निकलना जरूरी है तो छाता जरूर लेकर चलें|

10. पानी में नींबू और नमक मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीते रहने से लू लगने का खतरा कम रहता है|

11. पिसी हुई चंदन, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजें लगाने से गर्मी में राहत मिलती है। धूप से आने के कुछ घंटों बाद मुल्तानी मिट्टी और चंदन पाउडर लगाने से आपकी त्वचा को ठंडक महसूस होगी।

12. हम सब नारियल की गुणों के बारे में जानते हैं नारियल पानी बहुत अच्छे पोषक तत्वों से समृद्ध है और आपके शरीर को गर्मी के खिलाफ मजबूत बनाने में मदद करता है। इसलिए गर्मियों के मौसम में नारियल पानी पीते रहें।

13. कच्ची प्याज भी लू से बचाने में मददगार होता है। आप खाने के साथ कच्चा प्याज का सलाद बनाकर खा सकते हैं।

14. जादा गर्मी महसूस होने पर गोंद कतीरे को पानी में भिगोकर रखे और मिश्री के शरबत में मिलाकर सुबह शाम ले| गोंद कतीरा ठंडा होता है इसके सेवन से गर्मियों में लू और पेट की समस्याओं से बचा जा सकता है|

15. गर्मी के दिनों में हल्का भोजन करना चाहिए. भोजन में दही, छाछ, मट्ठा को शामिल करना चाहिए|

16. गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी न हो इसलिए तरबूज, ककड़ी, खीरा खाना चाहिए। इसके अलावा फलों का जूस लेना भी फायदेमंद है।

17. सौंफ़ के बीज में आंतरिक रूप से ठंडक देने वाले गुण होते हैं। सौंफ़ के बीज को पूरी रात पानी में रखें और सुबह में इस पानी का सेवन करें। यह गर्मी से निपटने का एक शानदार तरीका है।

Also Read: शरीर की गंदगी बाहर निकालने के उपाय

18. घमौरियां हो जाने पर नीम और तुलसी का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है। गुलाब की पत्तियों को पानी में भिगोकर उस पानी से चेहरा धोने पर गर्मी के मौसम में त्वचा मुलायम बनी रहती है।

19. पुदीना और तुलसी दोनों की पत्तियों हमारे पाचन तंत्र पर प्राकृतिक सुखदायक प्रभाव पड़ता है। ठंडे पानी के गिलास में इन दोनों के पाउडर और थोड़ी सी चीनी मिलाएं। यह एक ठंडा और ताज़ा पेय है जो आप गर्मियों में पीने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

20. पानी में ग्लूकोज मिलाकर पीते रहना चाहिए। इससे आपके शरीर को उर्जा मिलती है जिससे आपको थकान कम लगती है।

21. नहाने से पहले जौ के आटे को पानी में मिलाकर पेस्ट बनाकर बॉडी पर लगाकर कुछ देर बाद ठंडे पानी से नहाने से लू का असर ख़त्म हो जाता है|

22. चेहरे पर पीसी हुई चंदन और खीरे के जूस के साथ दो-तीन बूंद ग्लिसरीन की बूंदें और गुलाब जल मिलाकर उसका लेप लगाने पर भी राहत मिलती है|

23. कौन कच्चे आम और मसाले से बनें इस स्वादिष्ट पेय को पसंद नहीं करता है? यह आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें जीरे काली मिर्च जैसे मसाले मिलाएँ जाते हैं। यह आपके पाचन तंत्र को भी शांत करता है। रोजाना 2 बार आम पन्ना पीना सुनिश्चित करें।

24. लू से बचने के लिए बेल का शर्बत भी पीया जा सकता है। यह आपके पेट को ख़राब नहीं होने देता और शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है।

25. लू लगने और ज्यादा गर्मी में शरीर पर घमौरियां हो जाती हैं. बेसन को पानी में घोलकर घमौरियों पर लगाने से फायदा होता है|

26. लौकी में पानी की मात्रा अधिक होती है। इसके सेवन से डीहाइड्रेशन की समस्या नहीं होती है। गर्मियों के सीजन में लौकी का सेवन सब्जी, रायता या जूस के रूप में कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ दूसरी सब्जियां भी हैं, जैसे तरोई, कद्दू, खीरा, उबले आलू आदि।

27. गर्मियों के मौसम में पेट की बीमारियां, पित्त और घमौरियां आदि बहुत परेशान करती हैं। इनके उपचार के लिए जलजीरा पीना फायदेमंद होता है।

28. इमली के बीजों को पीसकर पाउडर बना लें और इसे पानी में चीनी के साथ घोलकर पिएँ। इससे पेट की गर्मी निकल जाती है।

Also Read: भारत के 10 सबसे अच्छे Window AC

29. गर्मियों में आंवले का जूस या शरबत पिने से बार- बार प्यास नहीं लगती है, और आंवले का जूस या शरबत से कई तरह की बीमारीयों से भी राहत मिलती है|

30. गाय के दूध में पिसी हुई काली मिर्च मिलाकर पीने से शरीर को बहुत राहत मिलती है।

31. पुदीना शरीर की गर्मी को फौरन निकाल देता है। पुदीना खाने से बुखार पेट की जलन लू और गैस की समस्या सब दूर हो जाती है।

32. गर्मी में लू लगने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है। जिससे डीहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। इसके लिए सबसे अच्छा उपाय है कि आप ग्लूकोज या इलेक्ट्रोलाइट साल्ट या फिर कोई दूसरा एनर्जी ड्रिंक जरूर पिएँ। एनर्जी ड्रिंक दिन में कम से कम 3 बार पीना चाहिए।

Also Read: क्या आपको पता हे आक (मदार) के पौधे के चमत्कारी गुणों के बारे में जानकर हेरान रह जाएगे आप

गर्मी से बचने के लिए क्या करे

1. प्रतिदिन 2 से 3 लीटर पानी पिए|

2. गर्मियों में ढीले और सूती कपड़े पहने|

3. तेज धुप में नंगे पांव और नंगे सिर घर से बाहर ना निकले|

4. कूलर और AC के आगे से हट कर एक दम धुप में ना जाए|

5. बाहर धूप से आते ही तुरंत कुलार या AC के आगे ना बैठे और न ही तुरत ठंडा पानी पिए|

Also Read: नपुंसकता के कारण, लक्षण और इसका उपचार

6. गर्मी में चाय जादा और मसाले वाली चीजे भी कम खाए, बीडी सिगरेट शराब के सेवन से दूर रहे|

7. खाली पेट हो तो तेज धूप में बाहर ना जाए और जब धूप में बहार जाना पड़े तो पानी पी कर जाए|

गर्मी में लू से बचने के कुछ अन्य उपय

नहाने से पहले जौ के आटे को पानी में मिलाकर पेस्ट बनाकर बॉडी पर लगाकर कुछ देर बाद ठंडे पानी से नहाने से लू का असर कम हो जाता है|

लू से बचने के लिए कच्चे आम का लेप बनाकर पैरों के तलवों पर मालिश करनी चाहिए|

लू लगने और ज्यादा गर्मी में शरीर पर घमौरियां हो जाती हैं, बेसन को पानी में घोलकर घमौरियों पर लगाने से फायदा होता है|

लू लगने पर जौ के आटे और प्याज को पीसकर पेस्ट बनाएं और उसे शरीर पर लगाएं, जरूर राहत मिलेगी|

कैरी (कच्चा आम) के गूदे को सिर्फ पानी के साथ मिलाकर इसकी मालिश करने से लू लगी हो तो उसका असर मिटता है।

बगल , पीठ , नाभि के पास दोनों तरफ जांघों पर , गर्दन और हाथों पर बर्फ लगा सकते हैं। इन जगहों पर रक्त की नसें ज्यादा होती है, अतः शरीर में ठंडक लाने के लिए इसका जल्द असर होता है।

जब हम धूप में बाहर निकलते हैं तो गर्म हवा हमारे शरीर पर बुरा असर डालती है। यही गर्म हवा लू लगना कहलाती है। जिसकी वजह से हमारे शरीर का तापमान बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। जिसे हमारा शरीर नहीं झेल पाता है। ऐसे में शरीर से बहुत पसीना निकलता है और शरीर में पानी कम होने लगता है। जिससे सर दर्द बुखार जैसी समस्याएं हो जाती हैं। कमजोर शरीर वाले व्यक्तियों को चक्कर भी आ जाते हैं।

कुछ सावधानियां रखकर हम सभी गर्मियों में लू से बच सकते हैं।अगर किसी को लू लग जाए तो बताए गए उपाय जरूर करें। शरीर में पानी की ज्यादा कमी होने पर और बताए गए उपाय करने पर भी आराम ना मिल रहा हो तो रोगी को फौरन ही डॉक्टर के पास ले जाएं, ताकि उसे सही इलाज मिल सके।


सुनील कुमार

Back to top