होली के प्राकृतिक रंग अपने घर पर कैसे बनाए


महाशिवरात्रि के पावन पर्व के बाद हर भारतीय रंगों के त्यौहार होली का बड़ी ही बेसब्री से इन्तजार करते है। बच्चा हो या बड़ा, बुढा हो या जवान सभी इस पर्व के आगमन की तैयारी में लग जाते है। होली वसंत ऋतु में मनाया जाने वाला भारतीयों का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह पर्व हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। रंगों का त्यौहार कहा जाने वाला यह पर्व पारंपरिक रूप से दो दिन मनाया जाता है। होली प्रमुख रूप से भारत में मनाया जाने वाला त्यौहार है। होली का त्यौहार कई अन्य देशों में जिनमें अल्पसंख्यक हिन्दू लोग रहते हैं, वहाँ भी बड़ी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। पहले दिन शाम के समय होलिका जलायी जाती है, जिसे होलिका दहन भी कहते हैं। दूसरे दिन, जिसे प्रमुखतः धुलेंडी व धुरड्डी, धुरखेल या धूलिवंदन इसके अन्य नाम हैं, होली की दिन लोग एक दूसरे पर रंग, अबीर-गुलाल इत्यादि फेंकते हैं, और घर-घर जा कर लोग एक दूसरे को रंग लगाते है। ऐसा माना जाता है कि होली के दिन लोग अपनी पुरानी दुश्मनी को भूल कर गले मिलते हैं और फिर से दोस्त बन जाते हैं।

इस साल कब है होली

ghar par holi ke rang kaise banaye

20 मार्च

  • होलिका दहन मुहूर्त- 20:57 से 00:28
  • भद्रा पूंछ- 17:23 से 18:24
  • भद्रा मुख- 18:24 से 20:07

रंगवाली होली- 21 मार्च

  • पूर्णिमा तिथि आरंभ- 10:44 (20 मार्च)
  • पूर्णिमा तिथि समाप्त- 07:12 (21 मार्च)

कैसे बनाए घर पर होली के रंग

होली का त्यौहार आते ही सबसे पहले मन मे जो बात आती है वो हे रंग की और आए भी क्यों न होली का मतलब ही है रंग और इस दिन हर कोई रंग खेलता है चाहे वह बच्चे हो, जवान हो, बुजुर्ग हो या फिर महिलाए इस दिन सभी रंग खेलते है| पर क्या आपने सोचा हे की ये रंग ही आपके इस त्यौहार को बेकार कर दे तो कहने का मतलब है की अगर होली के रंग लगने से ही आपके चेहरे या आपके बालो पर इसका बुरा प्रभाव पड़ा तो और क्यों नहीं पड़ेगा बाजारों में होली के दौरान बहुत से रंग हानिकारक Chemicals की मदद से जो बनाए जाते है| ऐसे में क्यों न इस बार होली पर रंग खेलने के लिए प्राकृतिक रंगों का उपयोग करें, जिससे रंगों का त्योहार सचमुच खुशियों का त्योहार बना रहे। तो चलिए जानते है घर पर प्राकृतिक रंग बनाने के आसान तरीके।

हरे रंग घर पर बनाने के लिए

हरे रंग के लिए:- हरे रंग के लिए मेंहदी का इस्तेमाल करें। मेंहदी को आटे के साथ मिलाकर आप सूखा हरा रंग तैयार कर सकते हैं।

2. आप पालक, धनिया पत्ती, मेहँदी के पत्ते या नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन्हे आप पीस कर ठन्डे पानी में मिलाकर हरा रंग तैयार कर सकते हैं।

पीले रंग घर पर बनाने के लिए

पीले रंग के लिए:- हल्दी और बेसन को मिलाकर आप पीला रंग तैयार कर सकते हैं। इसके लिए आप जितनी हल्दी लें, उसकी दोगुनी मात्रा में बेसन मिलाएं। आमतौर पर इसे बतौर उबटन भी घरों में इस्तेमाल करते हैं। यानी इस पीले रंग से त्वचा और भी निखर जाएगी।

गिला पीले रंग के लिए:- गीले रंग के लिए आप एक बड़ा चम्मच हल्दी को दो लीटर पानी में मिलाकर उबाल लें। इस घोल को थोड़ा गाढ़ा कर लेने पर यह बिल्कुल पक्का रंग हो जाएगा। चाहें तो गेंदे या अमलताश के फूल को पानी में उबालकर रात भर छोड़ दें और सुबह उससे होली खेलें।

लाल रंग घर पर बनाने के लिए

लाल रंग के लिए:- लाल रंग के लिए आप लांल चंदन पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। लाल गुलाल की जगह आप चाहें तो लाल चंदन पाउडर में गुड़हल के फूल को सुखाकर व पीसकर मिलाएं। इससे गुलाल और भी लाल और खुशबूदार हो जाएगा।

2. लाल रंग का गुलाल बनाने के लिए जपाकुसुम या गुलाब की पंखुड़ियों को पीसकर आटे के साथ मिलाकर गुलाल बना सकते हैं।

Also Read: होलिका दहन पूजा और शुभ मुहूर्त: क्यों किया जाता है होलिका दहन

3. बीटरूट, अनार के छिलके, टमाटर या गाजर को पीसकर रस बना सकते हैं। और उसको पानी में घोलकर अच्छी तरह से नैचरल होली का लाल रंग बना सकते हैं।

गिला लाल रंग के लिए:- गीला रंग बनाने के लिए लाल चंदन पाउडर (दो चम्मच) को एक लीटर पानी में मिलाएं और खौला लें। इसमें अपनी जरूरत के अनुसार पानी मिलाकर इससे होली खेलें। गाढ़े नारंगी लाल रंग के लिए एक चुटकी कत्था और दो चम्मच हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे 10 लीटर पानी में घोलकर पतला कर लें।

गुलाबी रंग घर पर बनाने के लिए

गुलाबी रंग के लिए:- इसके लिए आप चुकंदर का इस्तेमाल कर सकते हैं। चुकंदर बहुत हेअल्थी होता हैं। आप इसे कस ले और गर्म पानी में भिगो दे। अब इस पानी को छान ले। आपका गुलाबी रंग तैयार हो जाएगा। आप रंग बनाने के लिए फूलो का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे टेसू का फूल, गेंदे का फूल, गुलाब का फूल इत्यादि। आप इनको रात भर के लिए पानी में भिगो के छोड़ दे और इस पानी को छान ले। इससे आपको बहुत अच्छा रंग मिलेगा जो आपके चहेरे के लिए भी लाभदायक होगा।

नीले रंग घर पर बनाने के लिए

नीले रंग के लिए:- नीला रंग बनाने के लिए आपको नीले गुड़हल के फूलों की जरुरत हैं। इसके लिए आपको इन फूलो को सुखा कर पीसने की जरुरत हैं। इससे आपको सूखा नीला रंग मिल जाएगा।

2. नीले रंग के लिए नील के पौधों पर निकलने वाली फलियों को पीस लें और पानी में उबालकर मिला लें।

गिला नीला रंग के लिए:- नीले रंग के लिए नील के पौधों पर निकलने वाली फलियों को पीस लें और पानी में उबालकर मिला लें।

2. काले अंगूर को पीस कर उसमें पानी मिला ले। अगर आपअंगूर के पत्‍तों को पानी में उबाल ले तो वह भी नीला रंग देते हैं।

भूरा रंग घर पर बनाने के लिए

भूरा रंग बनाने के लिए:- भूरा रंग बनाने के लिए आपको जरुरत हैं चाय की पत्ती की। इसके लिए आप ज़रूरत के अनुसार चाय की पत्ती को उबाल लें और उसको पानी में मिला ले आपको भूरा रंग मिल जाएगा|

Also Read: होली के रंग छुड़ाने के आसान उपाय

काला रंग घर पर बनाने के लिए

काला रंग बनाने के लिए:- काले रंग के लिए अंगूर के बीज को निकालकर अच्छी तरह से पीस लें। फिर इसको पानी में अच्छी तरह से मिला लें। आपको काला रंग मिल जाएगा।

बैंगनी रंग घर पर बनाने के लिए

बैंगनी रंग बनाने के लिए:- बैंगनी रंग बनाने के लिए चुकंदर को बारीक काट कर रात भर पानी में भिगोकर रख दें। अगले दिन सुबह उबाल लें और छानकर इसका रस निकाल लें। इस रस को पानी में मिलाकर सुंदर बैंगनी रंग से होली खेलने का मजा उठा सकते हैं।

2. जामुन के फल को पीसकर कर भी आप बैंगनी रंग बना सकते हैं।

नारंगी रंग घर पर बनाने के लिए

नारंगी रंग बनाने के लिए:- नारंगी रंग का गुलाल बनाने के लिए पलाश के फूल का पावडर चंदन के पावडर में मिलाकर गुलाल भी बना सकते हैं।

गिला नारंगी रंग बनाने के लिए:- टेसू या पलाश के फूल को पीसकर पावडर बना लें और उसको पानी में घोलकर नारंगी रंग बना लें।

Also Read: होली में कैसे बनाए भांग की ठंडाई

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह रंग इस तरह से भी बन सकता है तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top