जानिए हिंदी भाषा के बारे में कुछ रोचक और महत्वपूर्ण बातें


किसी भी देश की पहचान उसके भाषा और उसकी संस्कृति से होती है, और पूरे विश्व में हर देश की एक अपनी एक भाषा और अपनी एक संस्कृति है जिसकी छाव में उस देश के लोग पले और बड़े होते है, यदि कोई देश अपनी मूल भाषा को छोड़कर दुसरे देश की भाषा पर आश्रित होता है, तो उसे सांस्कृतिक रूप से गुलाम माना जाता है

यानी हमे दुसरो की भाषा सीखने का मौका मिले तो यह अच्छी बात है लेकिन दुसरो की भाषा के चलते अपनी मातृभाषा को छोड़ना पड़े तो कही न कही हमे दिक्कत का सामना जरुर करना पड़ता है तो ऐसे में आज हम बात करते है अपने देश भारत के राजभाषा हिंदी के बारे में जो हमारी मातृभाषा भी है और हमे इसे बोलने में फक्र महसूस करना चाहिए|

जानिए हिंदी भाषा के बारे में कुछ रोचक तथ्य

आइये आज हम आपको हिंदी भाषा से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्यों के बारे में बताते हैं जिन्हें जानकर आपको गर्व भी होगा और आपका हिंदी भाषा को लेकर ज्ञान भी बढ़ेगा।

  • 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में वोटिंग की गई थी जिसके आधार पर हिंदी भाषा को भारत की राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला था और इसी कारण 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • हिंदी शब्द खुद फारसी शब्द ‘हिन्द’ से लिया गया है, हिन्द शब्द का आशय ‘सिंधु नदी की जमीन’ से है।
  • हिंदी विश्व की चीनी भाषा के बाद दूसरी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है हिंदी हमारे देश भारत के अतिरिक्त पाकिस्तान, फिजी, मारिसस, गयाना, सूरीनाम और नेपाल में सबसे अधिक हिंदी भाषा बोली जाती है|
  • आज भी यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका के 45 विश्वविद्यालय सहित पूरे विश्व के लगभग 176 विश्वविद्यालयों में हिंदी की पढ़ाई जाती है।Importance of Hindi language
  • आपको यह जानकर भी हैरानी होगी कि हिंदी भाषा के इतिहास पर पहले साहित्य की रचना भी ग्रासिन द तैसी, एक फ्रांसीसी लेखक ने की थी|
  • ये तो हम सब जानते हैं कि भारत में सबसे ज्यादा बोली और समझे जाने वाली भाषा हिंदी है लेकिन विश्व में भी मंदारिन, स्पेनिश और अंग्रेजी के बाद हिंदी चौथी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है|
  • हिंदी को आधिकारिक भाषा का दर्जा देने वाला पहला राज्य बिहार था, 1881 में बिहार ने उर्दू को हटा कर हिंदी को अपनी आधिकारिक भाषा घोषित किया था|
  • पूरे विश्व के मुकबले भारत में सबसे अधिक भाषाएं बोली जाती हैं यहां 10 या 15 भाषाएं नहीं बल्कि पूरी 461 भाषाएं बोली जाती है, पर इनमें से 14 विलुप्त हो गईं है|
  • यूँ तो भारत के हर क्षेत्र की अपनी अलग अलग भाषाएँ हैं| लेकिन भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हिंदी है. देश के 85% लोग हिंदी बोलते और समझते हैं|
  • हिंदी भाषा का शब्दकोश बहुत ही बड़ा है हिंदी भाषा में अपनी किसी भी एक भावना को व्यक्त करने के लिए अनेक शब्द है जो की अन्य भाषाओ की तुलना में अपने आप में अद्भुत है
  • हिंदी भाषा की सबसे रोचक बात ये है की हिंदी शब्दों को उसी तरह लिखा जाता है जैसे उन्हें बोला जाता है, इसीलिए ये भाषा सीखने में बाकी भाषाओँ की तुलना में ज्यादा आसान है।
  • हिंदी फिल्म इंडस्ट्री “बॉलीवुड” दुनिया में सबसे ज्यादा फिल्मे निर्मित करती है|
  • इंटरनेट पर ज्यादातर इस्तेमाल अंग्रेजी भाषा का ही होता है| लेकिन देश में हर पांच में से एक व्यक्ति इंटरनेट को हिंदी में चलाना पसंद करता है।
  • अंग्रेजी की रोमन लिपि में जहां कुल 26 वर्ण हैं, वहीं हिंदी की देवनागरी लिपि में उससे दोगुने 52 वर्ण हैं।
  • अंग्रेजी भाषा के सैकड़ों शब्द हिंदी से लिए गए हैं जैसे- जंगल, कर्मा, योगा, बंगला, चीता, लूटपाट, ठग या अवतार इत्यादि हिंदी भाषा से लिए गए हैं।
  • हिंदी शब्द में ‘हरि’ एक ऐसा शब्द है जिसके दर्जन से भी ज्यादा मतलब होते हैं जैसे यमराज, पवन, इन्द्र, चन्द्र, सूर्य, विष्णु, सिंह, किरण, घोड़ा, तोता, साँप, वानर, मेंढक, वायु, उपेन्द्र आदि।
  • इंटरनेट पर वेब एड्रेस बनाने में दुनिया भर की 7 भाषाओं का इस्तेमाल होता है और हिंदी उन्हीं में से एक है।
  • संयुक्त राष्ट्र की आम सभा को हिंदी में पहली बार 1977 में संबोधित किया गया था. तब तत्कालीन विदेश मंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने हिंदी में भाषण देकर देश का दिल जीत लिया था|
  • जहाँ अंग्रेजी में सबसे अधिक बोला जाने वाला शब्द “हेलो” है, वहीँ “नमस्ते” हिंदी का सबसे ज्यादा बोला जाने वाला शब्द है|
  • हिंदी भाषा का इतना अधिक मांग है की दुनिया के सबसे बड़े Search Engine Google ने भी वर्ष 2009 में हिंदी भाषा को अपना लिया और हिंदी की लोकप्रियता इतनी अधिक है की दुसरे भाषा के मुकाबले हिंदी 94% की वृद्धि दर से सबसे आगे बढने वाली भाषा है जिसे गूगल भी मानता है|
  • हिंदी भाषा में सबसे पहली पुस्तक “टप्रेम सागर” 1805 में प्रकशित हुई थी जिसे लल्लू लाल ने लिखी थी।
  • सन् 2000 में हिंदी का पहला Webportal अस्तित्त्व में आया था तभी से इंटरनेट पर हिंदी ने अपनी छाप छोड़नी प्रारंभ कर दी जो अब रफ्तार पकड़ चुकी है।
  • हिंदी भाषा इतनी अधिक प्रसिद्द है कोई भी Social Network Site बिना हिंदी को अपनाये आगे तरक्की नही पा सकता है इसका जीता जागता उदाहरण Facebook है और यहाँ तक की गूगल खुद ऑनलाइन हिंदी टाइपिंग के लिए Google Hindi Typing Tool सेवा प्रदान करता है|
  • हिंदी भाषा के कुछ बेहद प्रचलित शब्द दरअसल दूसरी भाषाओं से लिए गए हैं. जैसे कि

समोसा:- इसका मूल नाम ‘सम्बुसक’ जो कि एक पर्शियन शब्द है. कुछ देशों में इसे सोम्सा और सम्बुसा भी कहा जाता है.
जलेबी:- यह शब्द अरबी शब्द ‘जलेबिया’ से बना है.
गुलाब जामुन:- यह भी एक पर्शियन शब्द ‘गुल’ और ‘जामुन’ से बना है. गुल का मतलब होता है फूला हुआ और जामुन का मतलब पानी होता है.

आपके मन में हिंदी भाषा के प्रति ये भावना तो जरूर होनी चाहिए कि हिंदी एक मातृभाषा है मात्र एक भाषा नही|


सुनील कुमार

Back to top