भारत की बुलेट ट्रेन के बारे में जानकारी


मुंबई से अहमदाबाद हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट भारत के विकास पर एक दूरगामी असर डालेगा| इस प्रोजेक्ट के पूरा होते ही भारतीय रेलवे विश्व स्तर पर इस तकनीक में एक अग्रणी के तौर पर आगे आएगा| 125 करोड़ आबादी वाले भारत देश में बुलेट ट्रेन एक ऐसा सपना है जो जल्द ही हकीकत में तब्दील हो जाएगा|

सबसे पहली बार बुलेट ट्रेन जापान में 1964 चलाई गई थी क्‍योंं‍कि इस ट्रेन की बनाबट गाेली जैसी थी इसलिए इसका नाम बुलेट ट्रेन रखा गया दुनिया की सबसे तेज चलने वाली बुलेट ट्रेन फ्रांस में हैं| देश की पहली बुलेट ट्रेन मुंबई और अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर का फासला तय करेगी| यह दूरी महज 2 से 3 घंटे में पूरी की जाएगी| इस रूट पर 12 रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे, मुंबई और अहमदाबाद के बीच बनने जा रहा बुलेट ट्रेन रूट ज्यादातर जगहों पर एलिवेटेड होगा और इसका महेश 7 किलोमीटर का हिस्सा मुंबई में समंदर के नीचे से होकर गुजरेगा|

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे के साथ 14 सितंबर 2017 को साबरमती रेलवे स्टेशन के पास एथलेटिक स्टेडियम में अहमदाबाद से मुम्‍बई के बीच भारत की पहली बुलेट ट्रेन चलाने का प्रस्‍ताव की नींव रखी है|Indian bullet train

जानते है भारत में चलने वाली बुलेट ट्रेन के बारे में

1: भारत में चलने वाली बुलेट ट्रेन की रफ्तार 350 किलो मीटर होगी|

2: इस प्रोजेक्‍ट को बनने में 110000 करोड रूपये का खर्च आयेगा|

3: इस प्रोजेक्‍ट को पूरा करने के‍ लिए जापान से 88000 करोड रूपये का कार्ज लिया जायेगा|

4: शुरूआत में 24 ट्रेन जापान से मंगाई जाऐंगी और इसके बाद इन्‍हें भारत में ही बनाया जाऐगा|

5: आप इस ट्रेन के सफर का आनंद देश के 75वें स्‍वतंत्रता दिवस यनि वर्ष 2022 को उठा सकते हैं|

6: बुलेट ट्रेन का रूट साबरमती रेलवे स्टेशन से लेकर मुंबई – बांद्रा – कुर्ला कॉम्पलेक्स तक रखा गया है|

7: बुलेट ट्रेन का रूट 508 किलोमीटर लंबा है|

8: फिलहाल मुम्‍बई से अहमदाबाद जाने में 7 से 8 घंटे का समय लगता है बहीं बुलेट ट्रेन की सहायता से यह सफर 3 घंटे में तय कर लिया जाऐगा|

9: बुलेट ट्रेन 21 किलोमीटर लंबी सुरंग से गुजरेगी इस 21 किलोमीटर में से ठाणे और वसई के बीच 7 किमी की दूरी समंदर के नीचे पूरी करेगी|

10: इस ट्रेन के रूट पर 12 स्‍टेशन बंद्रा कुर्ला, ठाणे, विरार, भोइसर, वापी, बिलिमोर, सूरत, भरूच, बडोदरा, आणंद, अहमदाबाद, और साबरमती होगे|

11: शुरूआत मे यह ट्रेन मात्र चार स्‍टेशन अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और मुंबई पर ही रुकेगी|

12: फिलहाल शुरूआत में एक ट्रेन में 750 यात्रि‍यों को बैठने की सुविधा होगी|

13: यह ट्रेन में सभी यात्रि‍यों को इंटरनेट की सुविधा प्रदान की जाऐगी|

14: यह ट्रेन पूरी तरह से एयर कंडीशनर होगी|


सुनील कुमार

Back to top