कमजोर हड्डियों को मजबूत बनाने के कुछ आसान उपाय


हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण होती हैं हड्डियां, और अगर हड्डियां ही कमजोर हो जाएं तो हम कोई काम नहीं कर पाएंगे इसलिए सबसे जरूरी है की हम अपनी हड्डियों को मजबूत बनाए। उम्र कोई भी हो, मजबूत हडि्डयां स्वस्थ शरीर की जरूरत होती हैं। हमारी हड्डियां कैल्शियम के अलावा कई तरह के मिनरल से मिलकर बनी होती हैं। अनियमित जीवनशैली की वजह से या फिर बढ़ती उम्र में ये मिनरल खत्म होने लगते हैं। हड्डियां घिसने और कमजोर होने लगती हैं। तो आज हम आपको कुछ एसी चीजों के बारे में बताने जा रहें है जिनके सेवन से आपकी हड्डियां मजबूत बनाएंगी|

हड्डियों को मजबूत बनाने की विधि

पिसी हुई हल्दी 1 चम्मच, पुराना गुड़ 5 ग्राम (1 चम्मच) और देशी घी 2 चम्मच तीनों को 1 कप पानी में उबालें। जब उबलते-उबलते पानी आधा ही रह जाये, तब इसे हल्का गर्म होने पर पी जायें। इस प्रयोग को केवल 15 दिन से 6 महीने तक करने से आपकी हड्डियाँ और पूरा शरीर नयी उर्जा से भरपुर हो जायेगा|

अगर आप शाकाहारी नहीं है तो आप अंडे का सेवन जरुर करें क्यूंकि अंडे में प्रोटीन और विटामिन भरपूर मात्रा में होती है, इसलिए कोशिश करें कि रोज एक अंडा जरूर खाएं।

मछली एक बहुत ही बढ़िया स्रोत हे कैल्शियम का मछली में काफी मात्रा में कैल्शियम होता है, इसलिए अपने खाने नें मछली का प्रयोग करें। हफ्ते में 3 से 4 दिन मछली का सेवन करने से आपकी हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा 25 से 30 बढ़नी शुरू हो जाती है|

अगर आप शाकाहारी है तो आपको हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन जरुर करना चाहिए क्यूंकि हरी पत्तेदार सब्जियां भी हमारी हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद होतीं हैं। इसमे सबसे ज्यदा फायदेमंद होतीं हे पालक, मेथी, करेला जैसी सब्जियां एन का रोज सेवन करें।

केला एक बहुत आसानी से मिलने वाला फल है इसे आप किसी भी मौसम में उपयोग में ला सकते है, केले में पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम होते हैं। ये तीनों पोषक तत्व हड्डी को मजबूत बनाने में बेहद मददगार होते हैं।

संतरे में विटामिन सी पाया जाता है, जो हड्डियों के निर्माण में काफी मदद करता है।

शारीरिक कमजोरी को दूर करने के आयुर्वेदिक उपचार

एक और नुस्खा हड्डियों को फौलाद बनाने का

आज हम आपको एक ऐसा नुस्खा बताने जा रहे हैं जिसके प्रयोग से आपकी कैल्शियम की कमी दूर होगी और आपकी हड्डिया फौलाद बन जाएँगी।

सामग्री :-  हल्दीगाँठ 1 किलोग्राम
बिनाबुझा चूना 2 किलो
नोट : बिना बुझा चुना वो होता है जिससे सफेदी की जाती है।

बनाने की विधि: सबसे पहले किसी मिट्टी के बर्तन में चूना डाल दें। अब इसमें इतना पानी डाले की चूना पूरा डूब जाये। पानी डालते ही इस चूने में उबाल सी उठेगी। जब चूना कुछ शांत हो जाए तो इसमें हल्दी डाल दें और किसी लकड़ी की सहायता से ठीक से मिक्स कर दे। इस हल्दी को लगभग दो माह तक इसी चूने में पड़ी रहने दे। परन्तु जब चुने का पानी सूखने लगे तो इसमें इतना पानी अवश्य मिला दिया करे की यह सूखने न पाए। दो माह बाद हल्दी को निकाल कर ठीक से धो लें और सुखाकर पीस ले और किसी कांच के बर्तन में रख लें।

सेवन विधि:-
वयस्क 3 ग्राम मात्रा गुनगुने दूध में मिलाकर दिन में दो बार नाश्ते या भोजन के बाद.
बच्चे – 1 से 2 ग्राम मात्रा गुनगुने दूध में मिलाकर दिन में दो बार नाश्ते या भोजन के बाद.

लाभ 

कुपोषण, बीमारी या खानपान की अनियमितता के कारण शरीर में आई कैल्शियम की कमी बहुत जल्दी दूर हो जाती है और शरीर में बना रहने वाला दर्द ठीक हो जाता है। ये दवा बढ़ते बच्चों के लिए एक अच्छा bone टॉनिक का काम करती है और लम्बाई बढ़ाने में बहुत लाभदायक है टूटी हड्डी न जुड़ रही हो या घुटनों और कमर में दर्द हो तो अन्य दवाओं के साथ इस हल्दी का भी प्रयोग बहुत अच्छे परिणाम देगा।

सावधानी:- जिन्हें पथरी की समस्या है वह लोग इस विधि का सेवन न करें।


सुनील कुमार

Back to top