ओलंपिक गेम्स / खेल (GK) सामान्य ज्ञान प्रतियोगी परीक्षाओ के लिए pdf के साथ

  • 4
    Shares

अक्सर यह देखा गया है की प्रतियोगी परीक्षाओ में खेलो से सम्बंधित प्रशन भी पूछे जाते हैं और यह खेल के किसी भी हिस्से से हो सकते हैं इसी बात को ध्यान में रखे हुए आज हम आपके साथ Olympic Games की पूरी जानकारी शेयर कर रहे हैं जो आपको प्रतियोगी परीक्षाओ में सहायक सिद्ध हो सकती है जिसका pdf लिंक भी इस पोस्ट के अंत में दिया गया है जहाँ से आप इसे डाउनलोड करके अपने पास सेव कर सकते हैं या हमारे इस पेज को बुकमार्क भी सकते हैं तो चलिए जानते हैं Olympic Games History & Important Facts in Hindi.

ओलंपिक खेलो का इतिहास एवं कुछ रिकार्ड्स (History & Records in Olympic Game)

आधुनिक ओलंपिक खेलो की शुरुवात ग्रीस की राजधानी एथेंस में वर्ष 1896 में हुई थी जिसमे कुल २०० एथलीटो ने भाग लिया | ओलंपिक का नाम ओलंपिया पर्वत से लिया गया है क्यूंकि इसी पर्वत पर खेल सबसे पहले आयोजित हुए थे |

ओलंपिक खेल प्रत्येक 4 वर्ष में आयोजित होते हैं जिसमे विश्व के लगभग सभी देशो के खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं, ओलंपिक खेलो को
ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेल,
शीतकालीन ओलंपिक खेल,
पेरालिम्पिक खेल (इसमें केवल दिव्यांग खिलाडी भाग लेते हैं )
राष्ट्रिय olympic समिति
के नाम से भी जाना जाता है, जिसका आयोजन अन्तर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति {International Olympic Committee} जिसे IOC भी कहा जाता है के  द्वारा किया जाता है |

शीतकालीन ओलम्पिक खेलो का आयोजन वर्ष 1924 से अलग से होने लगा जिसके कारण पारंपरिक ओलम्पिक खेलो को अब ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक खेलो के नाम से जाना जाता है |

इसके अतिरिक्त शारीरिक रूप से अशक्त (दिव्यंगो) के लिए अलग से परलिम्पिक खेल (Paralympic Games) का आयोजन अलग से 1960 से शुरू हुए हैं तथा युवाओ के लिए ग्रीष्मकालीन युवा ओलम्पिक खेलो की शुरुवात 2010 से तथा शीतकालीन युवा ओलिंपिक खेलो की शुरवात 2012 से हुई है |

प्रथम विश्व युद्ध के कारण 1916 के छठे ओलंपिक खेलो का आयोजन नहीं हो सका था जिसके बावजूद 1920 के खेलो को सातवाँ खेल ही माना गया था

वर्ष 1940 तथा 1944 लन्दन में प्रस्तावित 12वें एवं 13वें खेलो का आयोजन द्वितीय विश्वयुद्ध के चलते नहीं हो सके और वर्ष 1948 लन्दन हुए खेलो को 14वें खेल माना गया

ओलिंपिक में 5 छल्ले (रिंग) होते हैं जो 5 महाद्वीपों को दर्शाते हैं जो की इस प्रकार हैं

  • नीला रंग – यूरोप
  • काला रंग – अफ्रीका
  • लाल रंग – अमरीका
  • पिला रंग – एशिया
  • हरा रंग – आॅस्ट्रेलिया-ओसियाना

आधुनिक ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेल सबसे ज्यादा बार लन्दन में हुए हैं जो की इस प्रकार हैं (1908, 1948 & 2012).

अमेरिका के तेराक “माइकल फेलेप्स” ओलिंपिक खेलो में सर्वाधिक पदक जीतने वाले खिलाडी है उन्होंने कुल 22 पदक जीते हैं जिनमे से 18 स्वर्ण, २ रजत व 2 कांस्य पदक शामिल है | 2012 के लन्दन ओलिंपिक में फेलेप्स ने 4 स्वर्ण और 2 रजत सहित कुल 6 पदक जीते थे जिससे पदक जितने का ये रिकॉर्ड इनके नाम हुआ |

इससे पहले ये रिकॉर्ड सोवियत संघ की जिमनास्ट लारिसा लात्यानिना के नाम था जिन्होंने कुल 18 ओलिंपिक पदक जीते थे

अन्तर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति का गठन फ्रांस के पियरे डी कोबेर्टिन ने 1894 में किया था और इन्हें ही आधुनिक ओलंपिक खेलो का जनक माना जाता है

ओलम्पिक खेलो के उद्घाटन समारोह में “मार्च पास्ट” में सभी देश अंग्रेजी वर्णमाला के क्रमानुसार शामिल होते हैं , किन्तु ओलम्पिक खेलो का जनक यूनान इस मार्च पास्ट में सबसे आगे तथा मेजबान देश सबसे पीछे होते हैं |

ओलम्पिक खेलो में भारत (India in Olympic Games )

भारत की और से वर्ष 1900 में नार्मन प्रिचर्ड ने सबसे पहले भाग लिया था जो की पेरिस फ्रांस में आयोजित हुए थे और 2 रजत पदक एथलिट में जीते थे परन्तु अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (IOC) के अभिलेखों में यह दोनों पदक इंग्लैंड के खाते में दर्ज हैं |

आधिकारिक रूप से भारत ने वर्ष 1920 में ओलिंपिक खेलो में भाग लिया था जो की एंटवर्प (बेल्जियम) में हुए थे |

आधिकारिक रूप से भाग लेने के बाद भारत ने अपना पहला पदक वर्ष 1928 हॉकी में जीता था और इसके बाद लगातार 6 बार ओलम्पिक खेलो में स्वर्ण पदक भारत ने जीता जो की इस प्रकार है 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, जिसके बाद ओलम्पिक में भारत ने वर्ष 1960 में रजत पदक जीता जबकि 1968 व 1972 में कांस्य पदक जीता और वर्ष 1964 व 1980 में पुन: स्वर्ण पदक जीता | इस प्रकार भारत ने हॉकी में कुल 8 स्वर्ण पदक, 1 रजत पदक तथा 2 कांस्य पदक जीते |

ओलम्पिक की किसी व्यक्तिगतस्पर्धा में भारत के लिए पहला पदक जितने वाले (कांस्य पदक) फ्री स्टाइल कुश्ती में के.डी. जाधव ने वर्ष 1952 में जीता |

कर्णम मल्लेश्वरी बनी उन्होंने 69 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था जो की वर्ष 2000 ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में आयोजित हुए थे |

व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को पहला रजत पदक दिलाने का श्रेय राज्यवर्धन सिंह राठोर ने 2004 में एथेंस ओलम्पिक निशानेबाजी में जीता था |

किसी व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाने का श्रेय अभिनव बिंद्रा को जाता है जिन्होंने 200 में बीजिंग ओलम्पिक 10 मी एयर राइफल निशानेबाजी में जीता था |

ओलम्पिक में भारत का सर्वश्रेस्ठ प्रदर्शन वर्ष 2012 के लन्दन ओलिंपिक में रहा जिसमे भारत कुल 6 पदक जीते जिसमे से 2 रजत व 4 कांस्य पदक थे|

ओलिंपिक खेलो से प्रतियोगी परीक्षाओ में पूछे जाने वाले कुछ प्रशन

2012 के ओलम्पिक कहाँ आयोजित हुए थे – लन्दन

2016 के ओलम्पिक कहाँ आयोजित हुए – रियो दी जनेरियो (ब्राज़ील)

2020 के ओलम्पिक कहाँ आयोजित होंगे – टोक्यो (जापान)

2024 के ओलम्पिक कहाँ आयोजित होंगे – पेरिस (फ्रांस)

2028 के ओलम्पिक कहाँ आयोजित होंगे – लोस एंजलिस (अमेरिका)

2016 रियो दी जनेरियो ओलिंपिक

आयोजन – 5 अगस्त से 21 अगस्त (कुल 17 दिन)

कुल कितने देशो ने भाग लिया – 206

मेरिकाना स्टेडियम में गेम्स हुए थे जिसमे कुल 28 खेल हुए थे

पदक तालिका में सबसे ऊपर USA (121) पदक, दुसरे स्थान पर UK और ३ स्थान पर चाइना रहा भारत 2 मैडल के साथ 67 वें स्थान पर रहा |

भारत के 119 खिलाडियों ने भाग लिया था जिसमे से पी वि सिन्धु जो की तेलंगाना राज्य से है ने बैडमिंटन में सिल्वर जीता तथा दूसरा पदक शाक्षी मालिक (हरियाणा) ने wresting में जीता |

ओपनिंग सेरेमनी में भारत का झंडा अभिनव बिंद्रा ने तथा क्लोजिंग सेरेमनी में साक्षी मालिक ने संभाला |

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो प्लीज शेयर करना न भूले और अगर आपके पास ऐसी कोई जानकारी है जो इस पोस्ट में नहीं है तो हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में बताये | ओलम्पिक से सम्बंधित प्रश्नों के लेके pdf जल्द ही अपलोड करा जाएगा तो हमारे साथ जुड़े रहे |

Download-Olympic-Games-PDF


  • 4
    Shares
Kapil Kumar

Kapil Kumar

Back to top