मेरठ में घूमने वाली जगहें


उत्तरप्रदेश का मेरठ शहर विश्व का 63वां सबसे तेजी से बढ़ता शहरी क्षेत्र और भारत का 14वां सबसे तेजी से विकसित होता शहर है। इस शहर में उत्तर भारत का एक प्रमुख सैनिक छावनी भी है। साथ ही यह कई औद्योगिक गतिविधियों का भी गढ़ है। देश में खेल सामग्री और संगीत के उपकरण का सर्वाधिक उत्पादन मेरठ में ही होता है। इसके अलावा विश्व में रिक्शा के सर्वाधिक उत्पादन का श्रेय भी मेरठ को ही जाता है।

सैर सपाटे के नज़रिए से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मेरठ शहर एक जाना-पहचाना नाम है। मेरठ में ऐतिहासिक और सांस्कृतिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण धरोहरों वाली काफी जगह हैं। वीकेंड आते ही स्कूली बच्चों से लेकर कामकाजी लोग एक ऐसे आप्शन की तलाश में रहते हैं जहां  सैर-सपाटे पर जाने से ज्यदा थकान न हो बल्कि घूमना-फिरना ऐसा हो कि वो कामकाजी माहौल से दूर रहकर ताज़गी और सुकून से भर दे। तो आइये जानते है मेरठ में घूमने वाली जगहों के बारे में:-

मेरठ में घूमने वाली जगहों के नाम

मनसा देवी मंदिर:- देवी शक्ति की स्वरूपा देवी मनसा का यह मंदिर बहुत प्राचीन है और सूरज कुंड के पास स्थित है। इतिहास में लिखा है की जब लंकापति रावण तपस्या के बाद शक्ति को अपने साथ ले जा रहें थे तब शक्ति यहाँ छुट गयी थी। तभी से यहाँ मनसा देवी का मंदिर बना हुआ है।

सैंट जॉन चर्च:- यह चर्च पूरे उत्तर भारत में सबसे पुराना चर्च है। यह चर्च 1819 से 1821 के बीच बना था। चर्च के पास ही कब्रिस्तान  है। चर्च के पास हरा -भरा और शान्त वातावरण है।

काली पलटन मंदिर:- यह मंदिर बहुत पुराना है, किसी को इसका इतिहास नहीं पता की यह मंदिर कब बना था। 1857 के लड़ाई में इस मंदिर का खास योगदान था। यहाँ पर चमत्कारिक रूप से शिव लिंग उत्पन्न हुआ था। इस मंदिर को औगरनाथ का मंदिर भी कहते हैं।

अबू लेन:- अबू लेन मेरठ का प्रसिद्ध मार्किट है। यह मार्किट थोडा तंग और पुराना है लेकिन यहाँ आपके जरुरत की सारी सामग्री मिलती है। और यहाँ पर खाने का भी सामान बहुत अच्छा मिलता है जिसे आप चटकारे लेकर खा सकते हैं। खासकर चाट पकोड़े और मसालेदार खाने वाले लोग यहाँ के चाट के दीवाने हैं।

शहीद स्मारक:- खासकर 1857 के वीरों को श्रधांजलि देने के लिए यह स्मारक बना था। इसके पास म्यूजियम है जहाँ पर 1857 के वीरों की पेंटिंग आदि हैं।

हस्तिनापुर का श्वेताम्बर जैन मंदिर:- जैन पंथ के श्वेताम्बरी समुदाय का बहुत बड़ा मंदिर यहाँ स्थित है। यह मंदिर बहुत मंजिल बड़ा है जिसे जैन प्रथम तीर्थंकर आदिनाथ के मोक्षस्थान “अष्टापद” का प्रारूप दिया गया है। इस मंदिर में आदिनाथ भगवान् की बहुत सुन्दर प्रतिमा विराजमान है।

ध्यान मंदिर:- अगर आप मान में शांति चाहते हैं तो यहाँ जरुर जाएँ। यह मंदिर खासकर ध्यान लगाने के लिए बनाया गया है। यह मंदिर मेरठ जिले के हस्तिनापुर में है।

श्री शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर:- मेरठ का सबसे प्राचीन मंदिर जैन मंदिर तीर्थंकर शांतिनाथ भगवान् का है। भारतीय सरकार ने इस मंदिर को प्राचीन कला के कारण अपनी संरक्षा में रखा है।visiting places in meerut

भोले की झाल:- मेरठ शहर में यह सलावा की झाल नाम से जाना जाता है। यह एक डैम है और यहाँ के इलाके में बिजली यही से जाती है। इस डैम के आस पास काफी हरियाली है इसलिए यह एक पिकनिक स्थल है।

जम्बूद्वीप जैन मंदिर:- जम्बूद्वीप हस्तिनापुर में एक बड़ा स्थल है। यहाँ पर जैन संस्कृति के प्रमुख मंदिरों के प्रारूप और पुराने जैन मंदिर हैं। यह मंदिर ज्ञानमति माता जी के निरिक्षण में बना है।

बासिलिका ऑफ़ लेडी ग्रसस/सरधना चर्च:-  मेरठ से 19 किलोमीटर दूर उत्तर-पूर्व दिशा में एक रोमन कैथोलिक चर्च है। यह चर्च बेगम समरू ने अपने पति की मृत्यु के बाद अपनी पूरी जागीर को चर्च बनवाने में दान कर दिया था। यह चर्च अपनी बनावट के लिए प्रसिद्ध है।

जैन मंदिर सलावा:-  सलावा गाँव में स्थित जैन मंदिर बहुत प्राचीन है। यह स्थान जैन तीर्थंकर शांतिनाथ, कुंथनाथ, अरहनाथ का जन्म स्थल है। सलावा गाँव प्रथम तीर्थंकर आदिनाथ और उनके पोते सोमप्रभा के समय से बना हुआ है।

चंडी देवी मंदिर:- हिन्दुओं के प्रमुख मंदिर, यहाँ हर साल नोचंदी का मेला लगता है। यह स्थान सूरज कुंड के पास है। यहाँ हर साल बहुत बड़ा मेला लगता है।

राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय:- शहीद स्मारक के पास बना यह स्वतंत्रता संग्रहालय जहाँ 1857 की पहली क्रांति की यादों को संजोय है। यहाँ पुराने ज़माने की कला, पेंटिंग्स, आदि को संभाल कर रखा गया है।

गाँधी बाग:- मॉल रोड पर स्थित गाँधी बाघ को कंपनी गार्डन भी कहते हैं। यह स्थान म्यूजिकल फाउंटेन, शांत वातावरण के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ लोग अपने परिवार के साथ पिकनिक मनाने आते हैं।

इकोलॉजिकल पार्क:- यह पार्क औगरनाथ मंदिर के पास भारतीय सेना के द्वारा बनाया गया है। यहाँ लोग सुबह मोर्निंग वाक करने आते हैं। यहाँ का वातावरण बहुत साफ़ और फ्रेश है।

यह हे मेरठ में घुमने वाली जगहें जहाँ जाकर आप अपना और अपने बच्चो को वीकेंड एन्जॉय कर सकतें है|

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top