अब मिलेंगे गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपए


भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश के लिए बहुत सी योजनाओ को शुरु करने के अपने वादों को पूरा करने की और कदम बढ़ाते हुए कहा उन्होंने अपने भाषण में व्यापारियों, किशानो, घर खरीदारों और यहाँ तक की देश की महिलाओ के लिए वित्तीय और  समाजिक लाभ देने की घोषणा की थी

कब तक लागू हो जाएगी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी जी ने नोटबंदी के 50 दिन पुरे होने के बाद 31 दिसम्‍बर, 2016 को राष्‍ट्र को दिये गये अपने संबोधन में सभी जिलों में मातृत्‍व लाभ कार्यक्रम के अखिल भारतीय विस्‍तार की घोषणा की थी और यह 1 जनवरी 2017 से लागू हो जाएगी । इससे करीब 51.70 लाख लाभार्थियों को प्रतिवर्ष लाभ मिलने की उम्‍मीद है। इस योजना के कार्यान्‍वयन और निगरानी के लिए विस्‍तृत दिशा निर्देश शीघ्र ही जारी किये जायेंगे।

और भी योजनाएं है

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी जी ने कहा कि केंद्र सरकार महिलाओं के लिए इससे पहले भी कई योजनाएं लागू  कर चुकी हैं, जिनसे उन्हें लाभ मिल रहा है। इनमें जीवन ज्योति योजना, सुरक्षा बीमा योजना, उज्जवला योजना आदि महत्वपूर्ण साबित हो रही हैं। इसके लिए प्रत्येक बूथ पर पांच कार्यकर्ताओं का समूह गठित किया गया है।

कैसे कम होगी माता मृत्यू दर

माता मृत्यू दर को कम करने में इस योजना से बड़ी सहायता मिलेगी। देश के 650 से ज्यादा जिलों में सरकार गर्भवती महिलाओं को पंजीकरण, डिलिवरी, टीकाकरण के लिए 6000 रुपये की मदद करेगी। आम तोर पर गरीबों की शारीरिक हालत के साथ- साथ गर्भावस्थ के समय शारीरिक तनाव को और अधिक बढ़ जाता है और यह महिलाओं की मोत का सबसे बड़ा कारण है

कैसे मिलेंगे आपको पैसे

नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने पर देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश के 650 से ज्यादा जिलों में सरकार गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में पंजीकरण, डिलीवरी, टीकाकरण और पौष्टिक आहार के लिए 6000 रुपए की आर्थिक मदद करेगी, और यह पैसे गर्भवती महिलाओं के खाते में जमा हो जाएँगे अगर गर्भवती महिलाअ का किसी बेंक में खाता नहीं खुला है तो उसके पति के बेंक खाते में पैसा जमा हो जाएगा |

पीएम मोदी ने कहा कि इस योजना की मदद से मातृ मृत्यु-दर और शिशु मृत्यु-दर में कमी आएगी. इस योजना से गृभवती महिलाओं को बहुत मदद मिलेगी.


सुनील कुमार

Back to top