जाने विश्व की सबसे शक्तिशाली सेना के बारे में


विश्व का हर देश बाहरी आक्रमणों से बचने के लिए और अपने देश की सुरक्षा के लिये सैन्‍य सख्‍याओं को बढाने और उन्‍हें मजबूती प्रदान करने के लिये उन पर अरबों रूपए खर्च करने लगी है। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि विश्‍व की सबसे शक्तिशाली सेनाओं की इस सूची में सबसे पहला नाम अत्‍याधुनिक हथियारों से लैस और मजबूत सेना की शक्‍ति वाले देश अमेरिका का नाम आता है। पर क्या आपको पता है विश्व के 126 देशो में से 10 सबसे शक्तिशाली सेनाओं के बारें में, हाल ही में दुनिया की सेना की सट्रेंथ पर नजर रखने वाली एजेंसी ग्लोबल फायरपावर ने दुनिया के 126 देशों में 10 सबसे बड़ी ताकत वाले देशों की लिस्ट जारी की है। तो आइये हम आपको बताते हैं कि इस समय विश्‍व में सबसे ताकतवर और अत्‍याधुनिक सेनाएं किन किन देशो के पास हैं।

10 सबसे शक्‍तिशाली सेनाएं वाले देश

अमेरिका की सेना:-

डिफेंस बजट: 581 अरब डॉलर

सैनिक: 14 लाख

टैंक: 8848

फाइटर प्लेन: 2785

युद्धपोत: 13

पनडुबी: 75

USA अपने सैन्य शक्ति पर बाकी देशों की तुलना में दस गुना ज्‍यादा पैसे खर्च करता है। अपने अत्‍याधुनिक हथियारों और मजबूत जहाजी बेड़े के कारण यह विश्‍व की सबसे शक्तिशाली सेना वाले देश पर टॉप पर हैं।

रूस की सेना:-

डिफेंस बजट: 46 अरब डॉलर

सैनिक: 7.6 लाख

टैंक: 15500

फाइटर प्लेन: 1438

युद्धपोत: 1

पनडुबी: 60

दुनिया में दूसरी सबसे मजबूत सेना रूस की है| हथियारों का दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक रूस ही है। इसके पास सबसे मजबूत टैंक फोर्स है, जो कि 15,500 की संख्‍या में है। इसके पास कुल सक्रिय सैन्‍य सख्‍य 760,000 है।

चीन की सेना:-

डिफेंस बजट: 155 अरब डॉलर

सैनिक: 23 लाख

टैंक: 9185

फाइटर प्लेन: 1438

युद्धपोत: 1

पनडुबी: 68

चीन की आर्मी दुनिया की सबसे बड़ी आर्मी है और यह अपनी मिलिट्री तथा डिफेंस पर खर्च करने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश माना गया है। चीन ने काफी हद तक आयात में कटौती की है और अब स्वदेशी तकनीक विकसित करने पर ध्यान दे रहा है।

भारत की सेना:-

डिफेंस बजट: 46 अरब डॉलर

सैनिक: 13 लाख

टैंक: 6464

फाइटर प्लेन: 809

युद्धपोत: 2

पनडुबी: 14

अपना देश भी श्रेणी में आगे के और बढ़ रहा हैं और हमारे पास विश्व का दुसरे नंबर का सबसे मजबूत थल सेना हैं। भारत में 11 लाख तीस हज़ार सक्रिय सैनिक हैं और 12 लाख आरक्षित सैनिक हैं। भारतीय थलसेना की स्थापना सन् 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिलने के तुंरत बाद हुई थी।

ब्रिटेन की सेना:-

डिफेंस बजट: 55 अरब डॉलर

ब्रिटेन की आर्मी दुनिया में 5वें स्थान पर मजबूत है. इस सेना की खासियत है सैनिकों को मिलने वाली स्पेशल ट्रेनिंग और 160 न्यूक्लियर हथियार| इस वक्‍त ब्रिटेन टेक्‍नॉलिजी को बढाने और अनुसंधान में सुधार की ओर कदम बढ़ा रहा है।

फ्रांस की सेना:-

डिफेंस बजट: 35 अरब डॉलर

सैनिक: 2 लाख

टैंक: 423

फाइटर प्लेन: 284

युद्धपोत: 4

पनडुबी: 10

फ़्रांस सबसे शक्तिशाली सेनाओं की सूची में पांचवे स्थान पर आता है। फ्रांस अपनी मिलिट्री पर 35 अरब अमरीकी डालर खर्च करता है। फ्रांस की सेनाये देखने में ज्यादा बड़ी नजर नहीं आती लेकिन फ्रांस के हथियार दुनिया में सबसे बेहतरीन और घातक माने जाते है|

जापान की सेना:-

डिफेंस बजट: 40 अरब डॉलर

जापान दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अपने आक्रामक प्रवृति के लिए जाना जाता है। जापान विध्वंसक तकनीकी क्षमता के कारण, विश्व की सबसे शक्तिशाली सेनाओं में एक है। जापान के सेना अत्यधिक प्रभावशाली टेक्नॉलिजी के साथ विश्व में 7 नंबर पर आती हैं|most powerful army

जर्मनी की सेना:-

डिफेन्स बजट: 36.7 अरब डॉलर

जर्मनी की सेना विश्व की सबसे शक्तिशाली सेनाओं में एक है यह नाटो की सक्रिय सदस्य है, जो कि अपनी सैन्य के संबंध में अत्यधिक प्रभावशाली टेक्नॉलिजी के होने का दावा करती है। इसका डिफेन्स बजट 36.7 अरब डॉलर हैं।

दक्षिण कोरिया की सेना:-

डिफेन्स बजट: 40 अरब डॉलर

दक्षिण कोरिया ने बड़ी तेजी से अपनी सेनाओं पर खर्च कर के उन्‍हें अत्‍याधुनिक तकनीको से लैस कर के मजबूत बना दिया है। इस देश की आर्मी दुनिया में मजबूती के मामले में 9वें स्थान पर है. यह विश्व में छठी सबसे बड़ी एयरफोर्स है जिसमें 1,393 शक्तिशाली वायुयान हैं. इसी के साथ इस सेना में करीब 2,346 टैंक, रॉकेट सिस्टम और करीब 15 हजार जमीनी हथियार शामिल हैं|

इजराइली की सेना:-

यह विश्व का ऐसा देश हैं जो चारों तरफ से अपने दुश्मन देशों से घीरा हुआ हैं फिर भी इस देश से शक्तिशाली देश भी टकराने से सोचते हैं।इस देश कि सेना की सेना अच्‍छा प्रशिक्षण और संचालन के लिये जानी जाती है। इनकी सैन्‍य संख्‍या भले ही कम हों, लेकिन यह विश्‍व में सबसे शक्‍तिशाली सेनाओं में से एक मानी जाती है।

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि यह बात ऐसे नहीं ऐसे होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।


सुनील कुमार

Back to top